पासपोर्ट से संबंधित अब सारे काम मुख्य डाकघरों से हो सकेंगे

अब लोगों को पासपोर्ट के लिए अपने जिले से बाहर जाने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि पासपोर्ट से संबंधित अब सारे काम मुख्य डाकघर से हो सकेंगे. पासपोर्ट सेवा केंद्र की सेवाएं अब देश के सभी मुख्य डाकघरों पर भी उपलब्ध होंगी. मंगलवार को इसकी घोषणा की गई. विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘हर जिले के मुख्य डाकघरों से अब पासपोर्ट सेवा केंद्र की सेवाएं भी मुहैया कराई जाएंगी. अब लोगों को अपने जिले के बाहर नहीं जाना पड़ेगा और पासपोर्ट से संबंधित सारे कार्य मुख्य डाकघर से हो सकेंगे.’

विदेश राज्य मंत्री ने बताया, ‘प्रायोगिक परियोजना यदि सफल रहती है तो अगले दो-तीन महीनों में हम इसे देश के अन्य मुख्य डाकघरों में भी विस्तार करेंगे. धीरे-धीरे हम देश के सभी मुख्य डाकघरों में यह सुविधा शुरू करने की कोशिश करेंगे.’ वहीं, दूरसंचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा, ‘पहले चरण में 38 जिलों के मुख्य डाकघरों में यह सुविधा शुरू की जाएगी. विदेश मंत्रालय डाक विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षण देगा.’ गौरतलब है कि देशभर में 89 पासपोर्ट सेवा केंद्र हैं.

Gyan Dairy

वीके सिंह के साथ दूरसंचार राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी उपस्थित थे. ऐसा पहली बार हो रहा है जब विदेश मंत्रालय पासपोर्ट अधिनियम के तहत मिली अपनी शक्तियां अन्य मंत्रालयों के साथ साझा करेगा. विदेश मंत्रालय और डाक विभाग के बीच इस संयुक्त प्रायोगिक परियोजना का बुधवार को कर्नाटक में मैसूर के मुख्य डाकघर और गुजरात में दाहोद के मुख्य डाकघर में उद्घाटन किया गया.

Share