NCERT की किताबों में गुजरात दंगों को अब नहीं लिखा जाएगा मुस्लिम विरोधी नरसंहार

NCERT की 12वीं क्लास की किताब में अब तक 2002 में हुए गुजरात दंगो को मुस्लिम विरोधी दंगे बताया जाता था, लेकिन अब इसमें बदलाव किया जाएगा. खबर है कि किताब में अब इन दंगों को ‘गुजरात दंगा’ कहा जाएगा. गौरतलब है कि साल 2002 में गुजरात में हुए दंगों को स्वतंत्र भारत की सबसे भीषण हिंसा में से एक माना जाता है. किताब में नाम बदलने का फैसला कोर्स रिव्यू कमिटी में लिया गया.

इसमें बताया गया कि साल 2002 के फरवरी में गुजरात में दंगे हुए, जिसमें कथित तौर पर 800 मुस्लिम और करीब 250 हिंदुओं की जान गई थी. ये दंगे 27 फरवरी को गोधरा में 57 कारसेवकों की मौत के बाद भड़के थे. इस दौरान नरेंद्र मोदी गुजरात के चीफ मिनिस्टर थे.

Gyan Dairy

इस कमिटी में एनसीईआरटी के अलावा सीबीएसई के प्रतिनिधि भी शामिल थे. बता दे कि 2007 में यूपीए सरकार के दौरान पहली बार NCERT की किताब में गुजरात दंगों का चैप्टर शामिल किया गया था. बता दें कि किताब में ‘पॉलिटिक्स इन इंडिया सिन्स इंडिपेंडेन्स’ का शीर्षक दिया गया है, जिसमें गुजरात दंगों को एंटी मुस्लिम रॉयट्स का नाम दिया गया है.

Share