हरियाणा: किसान आंदोलन की आड़ में ग्रामीण को शराब पिलाकर जिंदा जलाया, जानें पूरा मामला

बहादुरगढ़। किसान आंदोलन की आड़ में अराजकतत्व माहौल खराब करने में जुटे हैं। ताजा मामला हरियाणा के बहादुरगढ़ का है। यहां के कसार गांव का एक शख्स किसान आंदोलन में गया था। आरोप है कि आंदोलन में शहीद का नाम देकर उसे जिंदा जला दिया गया। गंभीर रूप से झुलसने पर उसे उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। घटना से जुड़े वीडियो के जरिये एक आरोपी पहचाना गया है।

पुलिस के मुताबिक किसान आंदोलन में शहीद का नाम देकर कसार निवासी किसान मुकेश 42 वर्ष को पहले खूब शराब पिलाई गई। इसके बाद तेल छिड़ककर उसे आग लगा दी गई। मृतक के भाई के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस का दावा है कि हत्या के आरोपी की पहचान हो गई है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गांव कसार निवासी मदन लाल पुत्र जगदीश का भाई मुकेश बुधवार शाम घर से घूमने के लिए निकला था और गांव के साथ ही बैठे किसान आन्दोलनकारियों के पास पहुंच गया। उन्हें फोन से पता चला कि आपके भाई पर आन्दोलनकारियों ने जान से मारने की नीयत से तेल छिड़ककर आग लगा दी। वह तुरंत अपने गांव के पूर्व सरपंच टोनी को लेकर मौके पर पहुंचा तो देखा भाई मुकेश गंभीर रूप से झुलसा हुआ था। उसे तुरंत सिविल अस्पताल लेकर आए।

Gyan Dairy

वहां उपचार के दौरान मुकेश ने बताया कि आंदोलन में एक व्यक्ति ने जिसका नाम कृष्ण है और सफेद कपड़े पहने हुए था, पहले उसे शराब पिलाई और फिर उसे आग लगा दी। इससे वह बुरी तरह झुलस गया। पुलिस ने संदीप और कृष्ण के खिलाफ जान से मारने के प्रयास का मामला दर्ज किया गया था। हालांकि मौत होने के बाद  हत्या की धारा भी जोड़ दी गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Share