हाथरस कांडः सीबीआई ने दाखिल की चार्जशीट, संदेह के घेरे में पीड़िता का भाई, होगा साइकोलॉजिकल असेसमेंट

नई दिल्ली। यूपी के हाथरस में दलित युवती के साथ कथित गैंगरेप और हत्या के मामले में सीबीआई ने शुक्रवार को एससी-एसटी कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। बताया जा रहा है कि सीबीआई ने अपनी चार्जशीट गैंगरेप, हत्या, छेड़छाड़ और एससी-एसटी एक्ट की धाराओं में दाखिल की है। वहीं आरोपी पक्ष के अधिवक्ता मुन्ना सिंह पुंढीर ने बताया कि सीबीआई की टीम पीड़िता के भाई को साइकोलॉजिकल असेस्मेंट के लिए गुजरात लेकर जाएगी।

बता दें कि साइकोलॉजिकल असेस्‍मेंट में किसी शिकायतकर्ता या अभियुक्‍त से केस से जुड़े सीधे और अप्रत्‍यक्ष सवाल किए जाते हैं। इस दौरान उसकी प्रतिक्रियाएं रिकॉर्ड की जाती हैं। टेस्ट के दौरान उसकी प्रतिक्रियाओं के आधार पर मनोवैज्ञानिक पहलुओं और लक्षणों एवं उद्देश्‍यों का आंकलन किया जाता है।

बता दें कि देश भर में चर्चा का विषय बने हाथरस कांड में पीड़िता के भाई ने ही आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। वहीं हाथरस के जिलाधिकारी और तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में अपने पुराने बयान को दोहराते हुए कहा था कि पीड़िता का अंतिम संस्‍कार तात्कालिक परिस्थितियों को देखते हुए किया गया था।

Gyan Dairy

ये था पूरा मामला
बता दें कि यूपी के हाथरस जिले में विगत 14 सितंबर को 19 वर्षीय दलित युवती के साथ कथित रूप से गैंगरेप हुआ था। इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़िता की दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में मौत हो गई थी। इस केस में सियासी दलों ने अपनी रोटी सेंकनी शुरू कर दी। इसके बाद मामले ने तब और जोर पकड़ा जब जिला प्रशासन और पुलिस ने मिलकर जबरन रात में पीड़िता का शव जला दिया। इतना ही नहीं प्रशासन ने गांव में मीडिया और राजनैतिक व्यक्तियों की एंट्री बैन कर दी।

Share