गृह मंत्री अमित शाह ने कोलकाता में परिवर्तन यात्रा को दिखाई हरी झंडी

कोलकाता: आने वाले दिनो में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, ऐसे में बीजेपी किसी भी तरह सत्ता में वापसी करना चाहती है। केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अमित शाह गुरुवार को दक्षिण 24 परगना जिले के इंदिरा मैदान में अपनी पार्टी की परिवर्तन यात्रा के पांचवें और अंतिम चरण का शुभारंभ किया। चुनावी राज्य के दो दिवसीय राजनीतिक दौरे पर आए शाह आज लगभग 12:30 बजे नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे थे।

दक्षिण 24 परगना के गंगासागर पहुंचने के बाद अमित शाह प्रार्थना करने के लिए कपिल मुनि आश्रम गए। वहां से वह इंदिरा मैदान पहुंचे और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस सरकार को हटाने की मांग करते हुए यात्रा को हरी झंडी दिखाई।

‘बंगाल को सोनार बांग्ला बनाने के लिए भाजपा की लड़ाई’
रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, “यह बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ बनाने के लिए भाजपा की लड़ाई है। यह लड़ाई हमारे बूथ कार्यकर्ताओं और टीएमसी सिंडिकेट के बीच है। ममता बनर्जी सरकार को हटाने के बाद भाजपा सरकार को लाना हमारा उद्देश्य नहीं है। हमारा लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि पश्चिम बंगाल में स्थिति में बदलाव हो, राज्य के गरीबों की स्थिति में बदलाव हो, राज्य की महिलाएं की स्थिति में बदलाव हो।”

गृह मंत्री ने यह भी घोषणा की कि भाजपा सरकार पश्चिम बंगाल में महिलाओं को 33 प्रतिशत से अधिक आरक्षण प्रदान करेगी। उन्होंने कहा, “यह सत्ता में बदलाव नहीं है, यह गंगासागर के प्रति सम्मान, क्षेत्र के मछुआरों में बदलाव लाने के बारे में है। क्या पश्चिम बंगाल में कानून और व्यवस्था की स्थिति ठीक हो सकती है जब तक कि ममता बनर्जी की सरकार है यहां? क्या बंगाल प्रगति की राह पर चल सकता है?”

Gyan Dairy

‘ममता ने स्कूलों में सरस्वती पूजन बंद किया’
क्या डब्ल्यूबी में दुर्गा पूजा नहीं होनी चाहिए? इसके लिए अदालत की अनुमति लेनी होगी। क्या सरस्वती पूजा नहीं होनी चाहिए? उन्होंने इसे रोक दिया था। भाजपा के दबाव के बाद ही उन्हें देवी सरस्वती की पूजा करते देखा गया था। दीदी, बंगाल जानती है कि आपने स्कूलों में ‘सरस्वती पूजन’ बंद कर दिया।

 

Share