पाकिस्तान गए सैकड़ों कश्मीरी युवक वीजा समाप्त होने के बाद भी नहीं लौटे वापस, जानें वजह

नई दिल्ली। केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर से चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। कश्मीर से पिछले तीन साल में वैध वीजा पर पाकिस्तान गए 100 से अधिक कश्मीरी युवक वीजा अवधि समाप्त होने के बाद वापस नहीं आए। सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि ये युवा पाकिस्तान से आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं अथवा यहां आतंकवादी समूहों के संभावित स्लीपर सेल बन गए हैं।

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा के सीमावर्ती इलाके के जंगलों में पिछले साल अप्रैल में पांच आतंकवादियों के मारे जाने के बाद उस समय सुरक्षा बल सतर्क हो गए। जांच में पता चला कि इनमें से एक आतंकवादी स्थानीय नागरिक हैं। वह वर्ष 2018 में पाकिस्तान गया था और इसके बाद लौटा ही नहीं। दक्षिण कश्मीर के शोपियां, कुलगाम और अनंतनाग जिलों के युवाओं को घुसपैठ कर रहे आतंकवादियों के समूहों में देखा गया और वे सभी वैध दस्तावेजों के साथ पाकिस्तान गए थे और इसके बाद कभी नहीं लौटे।

अधिकारियों ने बताया कि बाघा बॉर्डर पर आव्रजन अधिकारी और दिल्ली हवाई अड्डे के अधिकारियों समेत सुरक्षा एजेंसियां पिछले तीन साल से अधिक समय में सात से अधिक दिनों के लिए वैध वीजा पर यात्रा करने वाले कश्मीरी युवाओं की जानकारी एकत्र कर रही है।

Gyan Dairy

उन्होंने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में पाकिस्तान गए कश्मीरी युवाओं को पूछताछ के लिए बुलाया गया और सुरक्षा एजेंसियों ने उनके लौटने के बाद उनकी गतिविधियों का उचित विश्लेषण किया। सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान जाने वाले लोगों से उनकी यात्रा का उचित कारण जाना।

Share