अधिकारियों ने छुट्टी देने से किया इंकार तो ऑक्‍सीजन सिलेंडर लगाकर दफ्तर पहुंच गया बैंककर्मी, जानें क्या हुआ

बोकारो। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने संक्रमण के केेसों और मरने वालों की संख्या के सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। इस बीच झारखंड के बोकारो से एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। यहां कोरोना संक्रमण का इलाज करा रहे एक बैंककर्मी को छुट्टी नहीं मिली। लिहाजा वह अपनी पत्नी और बेटे के साथ ऑक्‍सीजन सिलेंडर लगाए ही ड्यूटी पर बेंक पहुंच गया। बैंककर्मी का बेटा ऑक्‍सीजन सिलेंडर पकड़े हुए था। इस पूरे वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया है।

बैंककर्मी अरविंद कुमार के मुताबिक उन्होंने चिकित्‍सीय अवकाश की मांग की थी। हालांकि अधिकारियों ने मना कर दिया था। बिना पूरी तरह ठीक हुए उसे ड्यूटी ज्‍वाइन करने का आदेश मिला। चूंकि संक्रमण उसके फेफड़ों में फैल चुका था। लिहाजा उसे लगातार ऑक्‍सीजन सपोर्ट की जरूरत पड़ रही थी।

अरविंद कुमार नामक बैंककर्मी वीडियो में ऑक्‍सीजन सिलेंडर लगाए हुए बैंक की शाखा में जाते दिखाई दे रहे हैं। सीढ़ियों से होते हुए वह एक अधिकारी के केबिन तक पहुंचते हैं, जहां उनके परिवार और बैंक अधिकारी के बीच तीखी बहस होती है। वीडियो के अंत में वह मैनेजर से पूछते हैं कि उन्‍हें प्रताड़ित क्‍यों किया जा रहा है। वह कहते हैं कि मैं बीमार हूं और मेरी हालत गंभीर है। अरविंद कहते हैं, ‘डॉक्‍टरों ने कहा है कि मुझे रिकवर होने में कम-से-कम तीन महीने लगेगा क्‍योंकि संक्रमण फेफड़ों में फैल चुका है।’ उन्‍होंने बैंक से वेतन भुगतान करने की भी मांग की। आरोप है कि उनका भुगतान रोक लिया गया है।

Gyan Dairy

परिवार के एक सदस्‍य ने कहा कि बैंक अधिकारियों ने उनकी छुट्टी मंजूर नहीं की तो उन्‍होंने इस्‍तीफा दे दिया लेकिन इसे भी स्‍वीकार नहीं किया गया। अब वे वेतन काटने की धमकी दे रहे हैं जिसकी वजह से उन्‍हें ऑक्‍सीजन सपोर्ट पर काम पर आने के लिए मजबूर होना पड़ा। इसके बाद श्री कुमार से घर वापस जाने के लिए कहा गया। इस प्रकरण के बाद से बैंक अधिकारी इस बारे में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

Share