देश में बढ़ते कोरोना के कहर को देखते हुए केंद्र सरकार ने इन राज्यों के लिए जारी की चेतावनी

नई दिल्‍ली: कोरोना वैक्सीन आने के बाद एकबार फिर से देश में कोरोना का कहर बढ़ने लगा है। इसी के चलते केंद्र सरकार ने 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में उच्च-स्तरीय टीमों को भेजा है, जहां पर कोविड मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। इसके साथ ही सरकार की तरफ से यह भी चेतावनी दी गई कि कुछ देशों में नए वायरस के प्रभाव को देखते हुए संक्रमण की जांच में कोई भी कमी करना आने वाले समय में संकट को बढ़ाएगी।

स्वास्थ्य सचिव ने वायरस के मामलों में वृद्धि पर सात राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी लिखा है और विशिष्ट उपायों की सलाह दी है। तीन सदस्यीय टीमों को 10 राज्यों – महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में भेजा गया है।

सूत्रों ने कहा कि प्रत्येक टीम का नेतृत्व स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी करेंगे। यह टीम प्रशासन के साथ मिलकर काम करेगी और मामलों के बढ़ने के कारणों की जानकारी लेगी। यह संक्रमण की चेन को तोड़ने के उपायों के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ भी बातचीत करेंगे।

राज्यों को संबंधित जिलों के अधिकारियों के साथ उभरती स्थिति की नियमित समीक्षा करने के लिए कहा गया है। राज्यों को कथित तौर पर मुख्य सचिवों के साथ चर्चा के लिए इन टीमों को अलग-अलग समय निर्धारित करने के लिए कहा गया है।

Gyan Dairy

इसके अलावा केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब और जम्मू और कश्मीर को लिखा है, जहां मामलों में वृद्धि हुई है और आरटी-पीसीआर टेस्‍ट में कमी देखी गई है। केंद्र ने इन राज्यों को आरटी-पीसीआर टेस्‍ट बढ़ाने और दोनों तरह के परीक्षणों को सबसे अधिक प्रभावित जिलों में केंद्रित तरीके से करने के लिए कहा है।

सरकार ने कहा कि रैपिड एंटीजन टेस्‍ट के सभी नेगेटिव मामलों का आरटी-पीसीआर परीक्षण करना चाहिए। केंद्र ने सभी सकारात्मक मामलों के संपर्क की तलाश करने के लिए भी कहा है

हाल के दिनों में नए संक्रमणों के अचानक बढ़ने के बाद देश के मौजूदा सक्रिय मामलों में महाराष्ट्र और केरल अकेले 75% हैं। मंगलवार को महाराष्ट्र में सबसे अधिक 5,210 नए मामले दर्ज किए गए, इसके बाद केरल (2,212) और तमिलनाडु (449) हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि महाराष्ट्र में 18, केरल में 16 और पंजाब में 15 लोगों की मौत हुई है।

Share