UN सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य बना भारत, निर्विरोध जीता चुनाव

भारत को बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) का अस्थाई सदस्य चुना गया.  भारत को 192 में से 184 देशों का वोट मिले. भारत दो साल के लिए अस्थाई सदस्य रहेगा. यह 8वां मौका है जब भारत यूएनएससी का अस्थाई सदस्य बना है. पीएम मोदी ने इसपर धन्यावाद करते हुए एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- भारी समर्थन के लिए आभारी हूं, भारत यूएनएससी के गैर-स्थायी सदस्य सीट के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुआ है।

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की सदस्यता के लिए वैश्विक समुदाय द्वारा दिखाए गए भारी समर्थन के लिए दिल से आभारी हूं. भारत वैश्विक शांति, सुरक्षा, लचीलापन और एकता को बढ़ावा देने के लिए सभी सदस्य देशों के साथ काम करेगा.”

Gyan Dairy

UNSC में भारत के अस्थायी सदस्य बनने के मायने

UNSC में भारत के अस्थायी सदस्य बनने के मायने ये हैं कि प्रधानमंत्री मोदी के वैश्विक नेतृत्व पर मुहर लग गई है. भारत UNSC का 8वीं बार अस्थायी सदस्य चुना गया इसका मतलब है कि सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता पर भी भारत का दावा मजबूत हुआ है. 192 वोटों में से भारत के पक्ष में 184 वोट पड़े यानी भारत कोरोना के बाद की दुनिया की अगुवाई करेगा. 2021-22 तक के लिए UNSC का अस्थाई सदस्य बना है इसके मायने ये हैं कि दुनियाभर में शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करेगा.

चीन और पाकिस्तान परेशान
भारत के UNSC में अस्थायी सदस्य बनने पर चीन और पाकिस्तान परेशान हैं. चीन भले ही भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता के रास्ते में रोड़े अटका रहा है लेकिन वो भारत को 8वीं बार UNSC का अस्थायी सदस्य बनने से रोक नहीं सका. अस्थायी सदस्य चुने जाने के लिए मात्र 128 वोट चाहिए थे, लेकिन भारत को जबरदस्त जीत मिली 194 में से 184 वोटों के साथ भारत फिर एक बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का सदस्य बन गया.

Virus-free. www.avast.com

Share