भारत-चीन विवाद: वायुसेना प्रमुख पहुंचे लेह-लद्दाख, हाई अलर्ट पर एयरफोर्स

जम्मू। भारत और चीन के बीच चल रहे विवाद को लेकर वायुसेना हाई अलर्ट पर है। इस बीच वायु सेना अध्यक्ष एयर चीफ मर्शल आरकेएस भदौरिया लेह और श्रीनगर के दो दिवसीय दौरे पर थे। वहीं, सीमा विवाद के मद्देनजर वायु सेना ने अपने लड़ाकू विमानों और अपनी सैन्य संपत्ति को हवाई ठिकानों पर तैनात करना शुरू कर दिया है। ताकि समय आने पर किसी भी अभियान को अंजाम दिया जा सके। बता दें कि, गलवां घाटी पर चीनी सैनिकों से हुई झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। सरकार के सूत्रों ने समाचार एजेंसी को बताया कि वायु सेना प्रमुख भदौरिया लेह-श्रीनगर की दो दिवसीय यात्रा पर थे, जहां उन्होंने पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के हमले के मद्देनजर उन सभी प्लेटफार्मों की परिचालन तत्परता की जांच की, जिन्हें क्षेत्र में स्थानांतरित कर दिया गया है।

चीनी सेना ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर 10 हजार से अधिक सैनिक इकट्ठा किए हैं। सूत्रों ने बताया कि दौरे के पहले चरण में वह 17 जून को लेह पहुंचे और फिर वहां से वह 18 जून को श्रीनगर एयरबेस गए। दोनों ही हवाई बेस पूर्वी लद्दाख क्षेत्र के पास स्थित हैं और इस दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में किसी भी लड़ाकू विमान वाले अभियान को सुचारू रूप से करने के लिए सक्षम हैं। यहां से चीनी सैनिकों पर बढ़त भी हासिल की जा सकती है। जब वायु सेना प्रमुख के लेह और श्रीनगर दौरे को लेकर वायु सेना के प्रवक्ता विंग कमांडर इंद्रनील नंदी से पूछा गया तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

Gyan Dairy

 

Share