क्या एनडीए से अलग हो रहे हैं चिराग पासवान? जानें खास बातें

नई दिल्ली। बिहार में विधानसभा चुनाव सम्पन्न हो चुके हैं। नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए ने स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाई है। हालांकि चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी ने सीट बंटवारे के मुद्दे पर खुद को एनडीए से अलग कर लिया था। बिहार में चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी सुप्रीमो चिराग पासवान ने स्वयं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हनुमान बताया था। इसको लेकर जेडीयू कई बार असहज भी हुई। हालांकि बीजेपी ने प्रेस काफ्रेंस करके चिराग के बयानो से कोई सरोकार न होने की बात कही थी।

इस बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद उनकी जगह चिराग पासवान या लोजपा से किसी सांसद को मोदी कैबिनेट में जगह नहीं मिली। अब बताया जा रहा है कि लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख चिराग पासवान केंद्रीय बजट को लेकर होने वाली एनडीए की बैठक में शामिल नहीं होंगे। लोजपा सुप्रीमो के कार्यालय ने बताया है कि चिराग पासपान अभी अस्वस्थ हैं। हालांकि इस मुद्दे पर राजनीतिक जानकारों का मानना है कि चिराग पासवान मोदी कैबिनेट के विस्तार तक यथास्थिति बनाए रख सकते हैं।

Gyan Dairy
Share