blog

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में रेलवे नायाब आइडिया, बोगियों में बन रहे आइसोलेशन वार्ड

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में रेलवे नायाब आइडिया, बोगियों में बन रहे आइसोलेशन वार्ड
Spread the love

नई दिल्ली। देश भर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) के मद्देनजर भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने भी ट्रेन की बोगियों को आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में तब्दील किया है। रेलवे की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार उत्तर रेलवे के तहत जगाधरी वर्कशॉप में 28 बोगियों को आइसोलेशन वार्ड में बदला गया है। इन ट्रेन कोचों में संक्रमण के संदिग्ध लोगों को क्वारेंटाइन के लिए रखा जाएगा। यहां उनके लिए दवाइयां और भोजन की भी व्यवस्था की गई है।
   
सूत्रों के मुताबिक, मरीजों के लिए केबिन बनाने के लिए एक तरफ की मीडिल बर्थ को हटा दिया गया है और मरीज  के बर्थ के सामने वाली तीनों बर्थ को हटा दिया गया है। सीट पर चढ़ने के लिए लगाई गई सीढ़ियों को भी हटा दिया गया है। आइसोलेश कोच तैयार करने के लिए बाथरूम और अन्य हिस्सों में भी बदलाव किया गया है।

थोड़ी राहत वाली बात यह है कि इस बीमारी से 79 लोग या तो ठीक हो चुके हैं या फिर उनकी स्थिति में सुधार है। कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए भारतीय रेलवे ने सभी यात्री ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगा रखा है। इससे सिर्फ मालगाड़ियों को छूट दी गई है ताकि माल की आपूर्ति सुचारू रूप से जारी रह सके। रेलवे ने परिचालन रद्द करते हुए कहा था कि यात्री अपना रिफंड ले सकते हैं।

बता दें कि देशभर में मंगलवार मध्य रात्रि से 21 दिनों के ‘लॉकडाउन’ की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद भारतीय रेल ने भी कहा था कि उसकी सभी यात्री सेवाएं अब 14 अप्रैल तक बंद रहेंगी। हालांकि, आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए माल ढुलाई जारी रहेगी। इससे पहले रेलवे ने 22 मार्च से 31 मार्च तक सभी यात्री सेवाएं बंद करने की घोषणा की थी. इस निलंबन में सभी उपनगरीय ट्रेन सेवाएं भी शामिल हैं।

इस बीच भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) ने लोगों से कहा है कि वे ट्रेनों की ऑनलाइन बुक की गई टिकटों को रद्द न करें और उन्हें खुद ही पूरा पैसा मिल जाएगा।

 

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *