जेसिका लाल हत्या कांड : दोषी मनु शर्मा की जेल से रिहाई, बन चुकी है घटना पर फिल्म

जेसिका लाल मर्डर के दोषी मनु शर्मा को जेल से रिहा करने को लेकर दिल्ली के उपराज्यपाल ने मंगलवार को मंजूरी दे दी है। मनु शर्मा फिलहाल पैरोल पर जेल से बाहर है।

हरियाणा के पूर्व मंत्री विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा को दिसंबर 2006 में दिल्ली हाईकोर्ट ने 1999 में जेसिका लाल की हत्या के लिए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। बीते 11 मई को ही सजा समीक्षा बोर्ड ने उनको रिहा करने को लेकर सिफारिश की थी। इस सिफारिश को अब एलजी की मंजूरी मिल गई है। एलजी ने मनु शर्मा के साथ ही 17 और लोगों को भी रिहा करने का आदेश दिया है।

दिल्ली सजा समीक्षा बोर्ड (एसआरबी) ने जेसिका लाल हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे मनु शर्मा की समय पूर्व रिहाई की सिफारिश करते हुए इसे उपराज्यपाल अनिल बैजल को भेजा गया था। यह छठी बार था जब समय से पहले रिहाई के लिए मनु शर्मा की याचिका सजा समीक्षा बोर्ड के समक्ष रखी गई थी।

दरअसल, सजा समीक्षा बोर्ड जिन 14 पैरामीटर्स को रिहाई के लिए उचित मानता है, मनु शर्मा उन सभी 14 मापदंडों को पूरा करता है। इसके अलावा मनु शर्मा ने सेमी ओपन जेल में समय बिता चुका है और अब वह खुली जेल में था। यहां तक की जेल एवं कल्‍याण अधिकारी की तरफ से भी उसके जेल में रहे आचरण को लेकर सकारात्मक रिपोर्ट दी गई थी।

Gyan Dairy

बता दें कि मशहूर मॉडल जेसिका लाल की 29 अप्रैल, 1999 की रात दिल्ली के टैमरिंड कोर्ट रेस्टोरेंट में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वजह जेसिका ने शराब परोसने से मना कर दिया था। उसका हत्यारा और कोई नहीं मनु शर्मा था।

केस पर बनी थी फिल्म ‘नो वन किल्ड जेसिका’

2011 में जेसिका लाल मर्डर केस से प्रभावित होकर फिल्म ‘नो वन किल्ड जेसिका’ बनाई गई। इसमें फिल्म अभिनेत्री रानी मुखर्जी और विद्या बालन प्रमुख भूमिका में थे। इसके अलावा फिल्म हल्ला बोल की कहानी भी जेसिका मर्डर केस से प्रभावित थी। दोनों फिल्मों में आम आदमी और मीडिया की ताकत को दर्शाया गया था।

Share