blog

बीटा टेस्टिंग की शुरुआत के साथ ही Jio Phone की प्री, बुकिंग शुरू

Spread the love

जियोफोन के शुरुआती बैच को मंगलवार यानी 15 अगस्त को उपलब्ध करा दिया गया है। अफसोस कि यह इस 4जी फीचर फोन का बीटा ट्रायल है। यानी आम ग्राहक के लिए यह फोन उपलब्ध नहीं है। गौरतलब है कि इस हैंडसेट को रिलायंस इंडस्ट्रीज की सालाना आम बैठक में पेश किया गया था। बता दें कि रिलायंस जियो की ओर से अभी चुनिंदा यूज़र को जियो फोन दिया गया है। सितंबर में आम ग्राहकों के लिए पेश किए जाने से पहले जियो के कमर्चारियों को इसकी बीटा टेस्टिंग करनी है। जियो फोन के बीटा ट्रायल का मकसद आम ग्राहकों को फोन बेचने से पहले इसकी सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर कमियों की पहचान करना और उन्हें दूर करना है।

JioPhone की आधिकारिक बुकिंग 24 अगस्त से शुरू होगी। लेकिन दिल्ली-एनसीआर के चुनिंदा ऑफलाइन रिटेल स्टोर ने इस हैंडसेट का प्री-ऑर्डर लेना शुरू कर दिया है। इसका मतलब है कि आप देश के लाखों लोग से पहले जियोफोन को बुक करने का मौका पा सकते हैं। लेकिन यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आपके आसपास में इस हैंडसेट की प्री-ऑर्डर बुकिंग लेने वाला रिटेल स्टोर हो।

JioPhone में कई ऐसे फीचर हैं जो फीचर फोन के लिए आम नहीं हैं। इनमें से एक अहम फीचर 4जी वीओएलटीई सपोर्ट है। इसके अलावा फोन में मल्टीमीडिया ऐप के लिए सपोर्ट होगा। बीटा ट्रायल के दौरान कंपनी इन फीचर की टेस्टिंग करेगी। कंपनी ने जियो फोन के लिए रिलायंस जियो 4जी नेटवर्क वाली रणनीति अपनाई है। JioPhone संभवतः अभी सिर्फ कंपनी के कर्मचारी इस्तेमाल कर पा रहे हैं।

JioPhone की बुकिंग के लिए आपको अधिकृत जियो रिटेलर को अपने आधार कार्ड की एक फोटो कॉपी देनी होगी। इस कागज की ज़रूरत आपको रिलायंस जियो आउटलेट में भी पड़ेगी। फिलहाल, एक शख्स देशभर में एक आधार नंबर पर एक यूनिट की बुकिंग कर सकता है। इसलिए आप अपने दिमाग से यह भ्रम निकाल दें कि आप अलग-अलग दुकान में जाकर कई हैंडसेट बुक कर सकते हैं। आधार नंबर की कॉपी देने के बाद कई जानकारियां सॉफ्टवेयर में अपलोड होंगी। इसके बाद आपको एक टोकन नंबर मिलेगा। यह टोकन नंबर फोन लेते वक्त काम आएगा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 21 जुलाई को ऐलान किया था कि जियो फोन एक तरह से मुफ्त होगा। लेकिन शुरुआत में सिक्योरिटी राशि के तौर पर 1,500 रुपये लिए जाएंगे। हालांकि, ऑफलाइन मार्केट में जियोफोन की बुकिंग करने पर आपको आधार नंबर देने के अलावा कोई राशि नहीं दी पड़ेगी। 1,500 रुपये का भुगतान हैंडसेट मिलने के बाद करना होगा। जियो के मुताबिक, 36 महीने इस्तेमाल करने के बाद ग्राहक इस राशि को वापस पा सकते हैं।

You might also like