दिल्ली में गिरफ्तार हुआ खालिस्तानी आतंकी सुख बिकरीवाल, था दुबई भागने के फिराक में

नई दिल्‍ली। खालिस्तानी आतंकवादी सुख बिकरीवाल को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को दिल्ली एयरपोर्ट से दुबई भगाने के आरोप में गिरफ्तार किया। सुखमीत पाल सिंह उर्फ सुख बिकरीवाल ने 2012 में अपराध की दुनिया में ड्रग तस्कर के रूप में प्रवेश किया था।

रिपोर्ट के अनुसार, विशेष सेल ने एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और पांच लोगों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से दो अक्टूबर में शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह संधू की हत्या में शामिल थे और पूछताछ के दौरान उन्होंने खुलासा किया कि बिकरीवाल ने वलविंदर सिंह को मारने का आदेश दिया था।

आईएसआई के इशारे पर कर रहा था काम

बलविंदर को तरनतारन के भिखीविंड में उनके घर पर 16 अक्टूबर को दो अज्ञात बाइकर्स द्वारा गोली मार दी गई थी। राज्य सरकार द्वारा उनके सुरक्षा को हटाने के महीनों बाद उनपर हमला हुआ था। उनकी की हत्या को आतंकी हमला करार देते हुए उनके परिवार ने दावा किया कि उनकी सुरक्षा को हटाने के फैसले से उनकी मृत्यु हो गई।

बलविंदर सिंह आतंकी संगठनों के रडार पर था, क्योंकि उन्‍होंने पंजाब में उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। सूत्रों ने बताया कि बिकरीवाल पाकिस्तान की कुख्यात जासूसी एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस आईएसआई के इशारे पर काम कर रहा था और पंजाब में कई हत्याओं के पीछे उसका हाथ है।

पाकिस्तानी ड्रग तस्करों से संबंध

Gyan Dairy

वांछित आतंकवादी ने पंजाब के पटियाला में सनसनीखेज 2017 नाभा जेलब्रेक में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जिस दौरान दो आतंकवादी और चार बदमाश भाग गए थे। पंजाब में उसके खिलाफ दर्ज 13 आपराधिक मामलों के साथ पाकिस्तानी मादक पदार्थों तस्करों के साथ संबंध हैं।

पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी ने उससे आरएसएस नेताओं की हत्याओं को अंजाम देने के लिए अपने नेटवर्क का इस्तेमाल करने को कहा था।

रिपोर्टों के अनुसार, पाकिस्तान की आईएसआई कश्मीर के ओवरग्राउंड वर्कर्स (OWGs) और पंजाब के स्थानीय अपराधियों का पंजाब में प्रमुख व्यक्तित्वों को निशाना बनाने के लिए उपयोग कर रही है और भारतीय खुफिया एजेंसियों को संदेह है कि बिकरीवाल इस मॉड्यूल का नेतृत्व कर रहा है।

 

Share