किसान आंदोलनः सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी व पुलिस बल तैनात

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसान आंदोलन ने एक बार फिर से तेजी पकड़ ली है। किसान आंदोलन में बड़ी संख्या में किसान शामिल होने के लिए पहुंच रहे हैं। ट्रैक्टर रैली के बाद हुए बवाल के बाद किसान आंदोलन थमता हुआ दिख रहा था लेकिन धीरे-धीरे ये आंदोलन फिर से जोर पकड़ने लगा है।

किसानों का आंदोलन शनिवार को 66वें दिन भी जारी है। किसान आज 30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को सद्भावना दिवस के रूप में मनाते हुए दिनभर के उपवास पर हैं। सिंघु बॉर्डर पर भारी संख्या में सुरक्षाकर्मी व पुलिस बल तैनात हैं।

प्रदर्शन स्थल से करीब 1 किलोमीटर पहले बैरिकेडिंग कर दी गई है। यहां से किसी को आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। मीडिया कर्मियों को एसीपी स्तर के अधिकारी उनका पहचान पत्र देखकर एक-एक करके आगे भेज रहे हैं।

प्रदर्शनकारियों के करीब 1000 वॉलंटियर ने सारी रात पहरेदारी की है। फिलहाल यहां स्थिति सामान्य बनी हुई है। उधर, शामली से 20 से ज्यादा महिलाएं आज मटके में पानी लेकर यूपी गेट पहुंची हैं।

Gyan Dairy

राकेश टिकैत के गांवों से पानी लाने की अपील के बाद लोगों द्वारा खाना-पानी लेकर धरनास्थल पर पहुंचने का सिलसिला लगातार जारी है। वहीं, सिंघु बॉर्डर से तमाम किसान नेता राकेश टिकैत से वार्ता के लिए यूपी बॉर्डर पहुंचे।

 

Share