किसान आंदोलनः खापों की पंचायत से बीजेपी और जेजेपी की मुश्किलें बढ़ीं

चंडीगढ़। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। वहीं, आज हरियाणा के जिंद में खटकड़ टोल प्लाजा पर 17 खापों की ओर से बुलाई गई महापंचायत में शनिवार को बड़ी संख्या में किसान पहुंचे हैं।

इन खापों ने ऐलान किया कि किसान अपने छतों से बीजेपी और जेजेपी के झंडों को उतारकर राष्ट्रीय ध्वज और भारतीय किसान यूनियन का झंडा लगाएंगे। जाट बहुल इलाके के खापों से जुड़े किसानों ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और दुष्यंत चौटाला के जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के नेताओं के सामाजिक बहिष्कार का भी ऐलान किया।

गौरतलब है कि हरियाणा में बीजेपी और जेजेपी गठबंधन की सरकार है। बैठक की अध्यक्षता करते हुए खेरा खाप के प्रमुख सतबीर पहलवान ने कहा कि 7 फरवरी को टिकरी बॉर्डर तक पैदल मार्च का फैसला लिया गया है।

Gyan Dairy

उन्होंने कहा, हमने सर्वसम्मति से फैसला लिया है कि अपने घरों से बीजेपी-जेजेपी के झंडे हटा देंगे और तिरंगा, बीकेयू का झंडा लगाएंगे। यह फैसला उन लोगों को जवाब देने के लिए लिया गया है जो इस जमीन पर राष्ट्रीय झंडे के प्रति हमारे प्यार को लेकर सवाल उठा रहे हैं। ये सवाल उन लोगों की ओर से पूछे जा रहे हैं जिनकी पीढ़ी ने कभी सीमाओं की रक्षा नहीं की।

 

Share