किसान आंदोलनः सरकार और किसान संगठनों के बीच आज होगी दसवें दौरे की बातचीत

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसान संगठनों और सरकार के बीच आज दसवें दौरे की बातचीत होने जा रही है। इससे पहले हुई बातचीत में कोई हल नहीं निकला है। लिहाजा, ये बैठक अहम मानी जा रही है। बता दें कि, दिल्ली की सीमाओं पर तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ बीते 55 दिनों से जारी आंदोलन के बीच केंद्र सरकार आज किसान संगठनों के साथ दसवें दौर की बातचीत करेगी।

सरकार इस बैठक में किसानों से गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली न करने का अनुरोध करने के साथ ही फिर से कानूनों के प्रावधान पर चर्चा का प्रस्ताव देगी। आज ही ट्रैक्टर रैली के खिलाफ दिल्ली पुलिस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी है। वहीं, भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर एक कानून बनाना होगा और तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करना होगा। हमारा विरोध सरकार और कॉर्पोरेट सिस्टम के खिलाफ है।

इसके साथ ही अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने किसानों और सरकार के बीच आज की वार्ता से पहले कहा कि, दो दिन पहले सरकार के मंत्री ने एलान किया कि हम कानूनों को निरस्त नहीं करेंगे। सरकार का रवैया अभी भी नकारात्मक है। इस परिस्थिति में बहुत कुछ होगा ऐसी कोई उम्मीद नहीं है।

Gyan Dairy

 

 

Share