लालू प्रसाद यादव ने कसा तंज, कहा- मेवा मिला तो मौन हो गए भाजपाई

पटना। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने नियुक्ति घोटाले में आरोपी को शिक्षा मंत्री बनाये जाने पर सीएम नीतीश कुमार और बीजेपी पर बड़ा हमला किया है। लालू यादव ने ट्वीट कर कहा कि विडंबना देखिए जो भाजपाई कल तक मेवालाल को खोज रहे थे आज मेवा मिलने पर मौन हो गए।

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव जहां पहली कैबिनेट में पहली कलम से 10 लाख नौकरियां देने को प्रतिबद्ध थे। वहीं नीतीश ने पहली कैबिनेट में नियुक्ति घोटाला करने वाले मेवालाल को मंत्री बना अपनी प्राथमिकता बता दिया।

मुंगेर के तारापुर विधानसभा सीट से जीतकर आए जदयू नेता मेवालाल को जब शिक्षा मंत्री बनाया गया तो एक बार फिर ये मामला गरमा गया है। तमाम विपक्षी दल इसे मुद्दा बनाना शुरू कर दिया है। सीपीआई एमएल के महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने भी कहा कि यदि मेवालाल चौधरी को मंत्रिमंडल से अविलंब बर्खास्त नहीं किया गया तो पार्टी धारावाहिक आंदोलन में उतरेगी।

Gyan Dairy

ये है पूरा मामला
बिहार चुनाव 2020 में जीत के बाद नीतीश की अगुवाई में बनीं नीतीश सरकार के करीबी और सबौर कृषि यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी रहे मेवालाल चौधरी को शिक्षा मंत्री बनाया गया है। बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू सबौर) भागलपुर में वर्ष 2012-2013 में लगभग 160 सहायक प्राध्यापक व कनीय वैज्ञानिकों की नियुक्ति में अनियमितता बरती गई थी। अभ्यर्थियों की ओर से शिकायत किए जाने के बाद बिहार के तत्कालीन राज्यपाल और वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जांच के निर्देश दिये थे। हाईकोर्ट के रिटायर जस्टिस ने इसकी जांच की थी और नियुक्ति घोटाले में तत्कालीन वीसी और वर्तमान में मंत्री बनाये गये मेवालाल चौधरी पर लगे आरोप सही पाये गये थे। राजभवन के निर्देश पर फरवरी, 2017 में पूर्व कुलपति के खिलाफ सबौर थाना में केस दर्ज किया गया था। पूर्व कुलपति से भी एसआईटी ने पूछताछ की थी।

Share