इसलिए बंगले का मेन गेट छोड़, लालू के बेटे ने पिछले दरवाजे को बनाया निकलने का रास्ता

लालू प्रसाद यादव के बेटे व बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने ज्योतिषी की सलाह पर अपने पटना के 3, देशरत्न मार्ग स्थित अपने बंगले के सामने वाले गेट से आना-जाना बंद कर दिया है. जिसके चलते झुग्गी में रहने वाले गरीबों की जिंदगी नर्क हो गई है.

अब इन लोगों का कहना है कि हमारे बच्चों का बाहर खेलने बंद हो गया है. जब मंत्रीजी का काफिला निकलता है तो हम अपनी झुग्गी के बाहर बैठ नहीं सकते. यहां तक कि हमारी साइकिल और बाइक भी बाहर पार्क नहीं हो सकती है. रहवासियों के मुताबिक, इस इलाके में 20 झुग्गियां हैं, जिनमें 100 से ज्यादा लोग रह रहे हैं. 50 साल में ऐसे हालात कभी नहीं बने. हम खौफ में जी रहे हैं.

दरअसल, ज्योतिषी ने तेज प्रताप को सलाह दी है कि वे अपने बंगले के सामने वाले गेट से आना-जाना बंद कर दें. इसके बाद मंत्रीजी ने पीछे वाला रास्ता पकड़ा, जहां आसपास झुग्गी बस्तियां हैं. जिसके बाद तेज प्रताप के आने-जाने से इन गरीबों की जीना मुहाल हो गया है. यह 200 मीटर का रास्ता है जहां झुग्गी बस्ती वाले रहते हैं.

Gyan Dairy

मंत्रीजी का 8 गाड़ियों का काफिला दिन में दस बार गुजरता है. जैसे ही काफिला आता है, लोग डरकर घरों में चले जाते हैं और दरवाजे बंद कर लेते हैं. उनके बॉडीगार्ड हमें बाइक-साइकिल बाहर नहीं रखने देते. काफिला निकलने से पहले एक गाड़ी सायरन बजाते हुए आती है और इसका मतलब है कि सभी लोग अपने घरों में चले जाएं.

Share