लाइसेंस मिला था सर्दी-जुकाम की दवा का और बना दिया कोरोना की दावा, नोटिस जारी

देहरादून। देश में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। कोरोना वायरस से निपटने के लिए सभी देश अपने—अपने स्तर पर दवा बनाने के प्रयास में जुटे हैं। इस बीच बाबा रामदेव की पतंजलि ने कोरोना की दवा बनाने का दावा पेशकर हड़कंप मचा दिया।

बाबा रामदेव का दावा था कि उनकी इस दवा से सौ फीसदी फायदा पहुंच रहा है। हालांकि, अब बाबा रामदेव की इस दवा को लेकर सवाल उठने लगे हैं। इसके साथ ही स्वामी रामदेव की पतंजलि योग पीठ की दिव्य फार्मेसी मुश्किल में पड़ सकती है। कंपनी को सर्दी-जुकाम की दवा बनाने का लाइसेंस जारी किया था, लेकिन पतंजलि ने कोरोना की दवा बनाने का दावा किया।

इसी बात को आधार बनाकर अब नोटिस जारी किया गया है। स्टेट ड्रग कंट्रोलर ने दिव्य योग फार्मेसी को नोटिस जारी कर दिया है। नोटिस में पूछा गया है कि दिव्य योग फार्मेसी ने कोरोना की जो दवा बनाने का दावा किया है उसका आधार क्या है? फार्मेसी ने कोरोना किट बनाने की परमिशन कहां से ली और दूसरा प्रचार-प्रसार के लिए परमिशन क्यों नहीं ली? कहा गया है कि फार्मेसी ने ड्रग एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट-1940 की धारा-170 का उल्लंघन कर भ्रामक प्रचार किया है।

Gyan Dairy

 

Share