मध्यप्रदेश: मूर्ति लगाकर नाथूराम गोडसे को महिमा मंडित करने वाले बाबूलाल चौरसिया हुए कांग्रेसी

भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता गंवाने के बाद कांग्रेस पार्टी अपने सिद्धांतों को भी तिलांजलि देेने पर आमादा है। अब कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे की प्रतिमा लगाने के कार्यक्रम में शामिल हुए बाबूलाल चौरसिया को पार्टी में शामिल किया है। मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ की मौजूदगी में बुधवार को बाबूलाल चौरसिया ने पार्टी का दामन थाम लिया।

बता दें कि 2017 में ग्वालियर हुए नाथूराम गोडसे की प्रतिमा लगाए जाने के एक कार्यक्रम में बाबूलाल चौरसिया भी मौजूद थे। कांग्रेस में शामिल होने पर बाबूलाल चौरसिया ने कहा, ‘मैं जन्म से ही कांग्रेसी हूं। निकाय चुनाव में पार्टी की ओर से टिकट न दिए जाने पर मैंने कांग्रेस छोड़ दी थी। इसके बाद मैं हिंदू महासभा में शामिल हो गया था और चुनाव भी जीता। लेकिन बाद में मुझे लगा कि मैं उनकी विचारधारा में फिट नहीं बैठता हूं। इसलिए कांग्रेस में वापसी कर ली।’

Gyan Dairy

बाबूलाल चौरसिया नाथूराम गोडसे की मूर्ति लगवाने वाले प्रमुख लोगों में से एक थे। यही नहीं वह बीते तीन सालों से नाथूराम गोडसे की जयंती पर श्रद्धांजलि देते आ रहे हैं। हालांकि अब उन्होंने इसका सारा दोष हिंदू महासभा पर मढ़ते हुए कहा गया है कि उन्हें भ्रमित किया गया था। मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने बाबूलाल को पार्टी में शामिल करने को लेकर कहा कि हमारी पार्टी माफ करने में यकीन करती है। ग्वालियर सीट से कांग्रेस के विधायक प्रवीण पाठक ने चौरसिया को शामिल करने का बचाव किया। उन्होंने कहा, ‘चौरसिया पहले कांग्रेस पार्टी के ही सदस्य थे। उन्होंने पार्टी में वापसी का फैसला लिया है और हम स्वागत करते हैं।

Share