मध्यप्रदेश: कमलनाथ-दिग्विजय पर भारी पड़ी शिवराज-सिंधिया की जोड़ी

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के विधानसभा उपचुनाव के नतीजों ने बीजेपी को एक बार फिर कांग्रेस को करारा झटका दिया है और भाजपा अपनी रणनीति में सफल साबित हुई है। कांग्रेस से अपने समर्थकों के साथ बगावत कर भाजपा का दामन थामने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया का दांव भी सफल रहा है और वे उपचुनावों में अपने अधिकांश समर्थकों को जिताने में सफल रहे हैं। इस जीत से भाजपा में शिवराज व सिंधिया दोनों का कद बढ़ा है।

बता दें दो साल पहले मध्य प्रदेश की जनता ने कांग्रेस को बहुमत देकर सत्ता सौंपी थी, लेकिन डेढ़ साल में ही वह अपने अंतर्विरोधों के कारण सत्ता से बाहर हो गई। ज्योतिरादित्य सिंधिया की नाराजगी कांग्रेस को भारी पड़ी। सिंधिया के साथ इस साल मार्च में कांग्रेस के 19 विधायकों ने पार्टी व विधायक पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस की कमलनाथ सरकार को गिरा दिया था और भाजपा को सत्ता में वापसी का मौका दिया था। सदन की संख्या घटने से 107 विधायकों के साथ भाजपा ने फिर से सरकार बना ली थी। बाद में कांग्रेस के कुछ और विधायकों ने भी इस्तीफा दे दिया। कुछ सीटें विधायकों के निधन से रिक्त हुई थी।

Gyan Dairy
Share