माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पत्नी को सता रहा गाड़ी पलटने का डर, राष्ट्रपति से लगाई गुहार

लखनऊ। यूपी के मऊ से बसपा विधायक और माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी को पंजाब से बांदा जेल लाते समय रास्ते में गाड़ी पलटने का डर सता रहा है। अफशां ने बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर अपने पति को पंजाब से उत्तर प्रदेश लाने के दौरान रास्ते में उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने का आदेश देने की गुहार लगाई है। अफशां अंसारी ने पत्र में लिखा कि उनके पति मुख्तार अंसारी इस समय पंजाब की रोपड़ जेल में बंद हैं। सुप्रीम कोर्ट ने गत 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से दो सप्ताह के अंदर बांदा जेल भेजने का आदेश दिया है।

अफशां ने पत्र में कहा कि उनके पति एक मामले में चश्मदीद गवाह हैं। इस मामले में बीजेपी के एमएलसी माफिया बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह अभियुक्त हैं। अफशां ने आरोप लगाया कि ‘यह दोनों अभियुक्त सरकारी तंत्र की कथित मिलीभगत से अंसारी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब की जेल से बांदा लाए जाते समय रास्ते में फर्जी मुठभेड़ की आड़ में अंसारी की हत्या की जा सकती है।

मुख्तार की पत्नी अफशां ने पत्र में कहा उत्तर प्रदेश सरकार के कुछ अधिकारियों के पूर्व में किए गए क्रियाकलापों से आवेदक का परिवार भयभीत है और अपने पति के जीवन की सुरक्षा के प्रति घोर चिंतित है। आवेदक को मिल रही पुख्ता सूचना और धमकी के कारण, ऐसा लगता है कि अगर मेरे पति के जीवन की सुरक्षा के लिए जिम्मेदारी तय किए बगैर उन्हें उत्तर प्रदेश भेजा गया तो निश्चित रूप से कोई झूठी कहानी रच कर मेरे पति की हत्या करा दी जाएगी। इसलिए राष्ट्रपति से गुजारिश है कि वह उत्तर प्रदेश लाए जाते वक्त मेरे पति के ‘लाइफ प्रोटेक्शन का आदेश दें।

Gyan Dairy

अफशां ने राष्ट्रपति से कहा कि अन्य विचाराधीन बंदियों की तरह उनके पति को भी कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण अदालत में खुद पेश होने से छूट दी गई है और वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पेशी कराई जा रही है। अफशां ने गुहार लगाई कि अगर किसी मामले में उन्हें अदालत में पेश करना बहुत जरूरी हो तो राष्ट्रपति सरकार को केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल के दस्ते के साथ जेल से अदालत और अदालत से वापस जेल तक सुरक्षित भेजने के प्रबंध का आदेश दें।

Share