महाराष्ट्रः सीरम इंस्टीट्यूट में लगी आग से 5 मजदूरों की मौत, वैक्सीन सुरक्षित

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के नये परिवार में बृहस्पतिवार को आग लग गई। आग लगने की सूचना पर फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची। इसके बाद एनडीआरएफ की टीम ने बचाव अभियान शुरू किया। इस दौरान पांच लोगों के जले हुए शव मिले हैं। इसके साथ ही कई लोगों को जिंदा बाहर निकाला गया। फिलहाल राहत और बचाव कार्य जारी है। महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने घटना की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। भारतीय सीरम संस्थान के सीईओ अदार पूनावाला ने ट्वीट करके बताया कि कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड पूरी तरह से सुरक्षित है।

जानकारी के मुताबिक आग कोरोना वायरस टीका निर्माण इकाई से दूर लगी है। इस कारण कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड टीकों के निर्माण पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। दरअसल जहां पर आग लगी है, वहां पर 4 लोगों के फंसे होने की आशंका थी। बचावकर्मियों ने उन्हें सुरक्षित निकाला, लेकिन बाद में पता चला कि जो फ्लोर पूरी तरह से जलकर राख हो गया उसमें 5 लोगों के शव पड़े हुए हैं।

Gyan Dairy

पुणे की पुलिस उपायुक्त नम्रता पाटिल ने बताया कि अपराह्न करीब पौने तीन बजे सीरम संस्थान के परिसर में स्थित एसईजेड 3 भवन के चौथे और पांचवें तल पर आग लग गई। कोरोना के राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कार्यक्रम के लिए कोविशील्ड टीके का निर्माण सीरम संस्थान के मंजरी केन्द्र में ही किया जा रहा है। सूत्रों ने कहा कि जिस भवन में आग लगी वह सीरम केन्द्र की निर्माणाधीन साइट का हिस्सा है और कोविशील्ड निर्माण इकाई से एक किमी दूर है। इसलिए आग लगने से कोविशील्ड के निर्माण पर कोई असर नहीं पड़ा है।

Share