महाराष्ट्र: को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में ईडी की बड़ी कार्रवाई, डिप्टी सीएम अजित पवार की पत्नी की शुगर मिल अटैच

मुंबई। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक घोटाले में बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने एनसीपी नेता और उपमुख्यमंत्री अजित पवार से जुड़ी 65.75 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली है। मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में ईडी ने उनकी पत्नी सुनेत्रा पवार की चीनी मिल को अटैच किया है। ईडी द्वारा कोरेगांव के चिमनगांव स्थित चीनी मिल की जमीन, इमारत, प्लांट और मशीन जब्त की गई है।

प्रवर्तन निदेशालय ने बताया कि जब्त की गई संपत्तियों का मालिकाना हक मेसर्स गुरु कमोडिटी सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के पास है। इसे मेसर्स जरंडेश्वर सहकारी शुगर कारखाना को लीज पर दिया गया। ईडी का दावा है कि जरंडेश्वर सहकारी शुगर कारखाने की अधिकांश हिस्सेदारी मेसर्स स्पार्कलिंग सॉयल प्राइवेट लिमिटेड के पास है। ये कंपनी महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार और उनकी पत्नी सुनेत्रा से जुड़ी हुई है।

Gyan Dairy

प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई पर उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि ईडी के पास जांच का अधिकार है। इससे पहले सीआईडी और एसीबी ने भी जांच की थी, लेकिन कुछ बाहर नहीं आया था। चारों तरफ से जांच चल रही है लेकिन कुछ बाहर नहीं आया है। उन्होंने आगे कहा कि जहां भी जरूरत होगी, मैं अपील जरूर करूंगा क्योंकि इस फैक्टरी पर कई मजदूरों की जीविका इस पर आधारित है।

Share