महाराष्ट्र: मनी लॉन्ड्रिंग केस में ED के सामने फिर पेश नहीं हुए NCP नेता अनिल देशमुख, बताई ये वजह

मुंबई। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख मंगलवार को एक बार फिर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश नहीं हुए। देशमुख ने कोरोना संक्रमण और अपनी बढ़ती उम्र का हवाला देकर मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी से ऑनलाइन बातचीत करने का आग्रह किया है।

प्रवर्तन निदेशालय ने एनसीपी नेता अनिल देशमुख 71 वर्ष को आज यानी मंगलवार को सुबह 11 बजे कार्यालय में पेश हो को कहा था। इससे पहले शनिवार को भी देशमुख जांच अधिकारी के समक्ष पेश नहीं हुए थे। बता दें कि एनसीपी के दिग्गज नेता अनिल देशमुख ने करोड़ों रुपए के रिश्वतखोरी और वसूली रैकेट से जुड़े धनशोधन के मामले में शनिवार को पेशी की नयी तारीख मांगी थी।

Gyan Dairy

अनिल देशमुख ने मंगलवार को नोटिसों का अनुपालन करते हुए अपने वकील इंदरपाल सिंह को अधिकृत प्रतिनिधि बनाकर एजेंसी को एक पत्र सौंपा। पत्र में अनिल देशमुख ने प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईडी की प्राथमिकी) की एक प्रति और ईडी से अन्य दस्तावेजों को उपलब्ध कराने का आग्रह किया था। देशमुख ने पत्र में अपनी 71 साल की उम्र और बीमारियों का हवाला देते हुए कहा, मैं कानून का पालन करने वाला नागरिक हूं। मैं खुद पर लगे आरोपों में झूठ, खोखलेपन और वास्तविकता की कमी को उजागर करने के लिए तत्पर हूं। पत्र में उन्होंने कहा कि तलाशी और बयान दर्ज किए जाने के दौरान 25 जून को जांच एजेंसियों के अधिकारियों के साथ उनकी पहले ही लंबी बातचीत हो चुकी है।

Share