मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को घेरा, कहा-जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने गलवान घाटी में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। सरकार को चीन की धमकियों और बयानों से कमजोर नहीं पड़ना चाहिए। यही समय है जब पूरे राष्ट्र को एकजुट होना है और संगठित होकर इस दुस्साहस का जवाब देना होगा।

मनमोहन सिंह ने कहा कि ‘हम सरकार से आगाह करेंगे कि भ्रामक प्रचार कभी भी कूटनीति और मजबूत नेतृत्व का विकल्प नहीं हो सकता।’ उन्होंने कहा, ‘आज हम इतिहास के नाजुक मोड़ पर खड़े हैं। हमारी सरकार के निर्णय और सरकार के कदम तय करेंगे कि भविष्य की पीढ़ियां हमारा आकलन कैसे करें। जो देश का नेतृत्व कर रहे हैं, उनके कंधों पर कर्तव्य का गहन दातित्व है।

हमारे प्रजातंत्र में यह दायित्व प्रधानमंत्री का है।’ पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ‘चीन ने अप्रैल से लेकर आजतक गलवान घाटी और पैंगॉन्ग त्सो लेक में कई बार घुसपैठ की है। भारत के क्षेत्रों पर जबरन दावा पेश किया है। ऐसे में प्रधानमंत्री को अपने शब्दों और ऐलानों द्वारा देश की सुरक्षा व समारिक, भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए।’

मनमोहन सिंह ने कहा, ‘हम न तो चीन की धमकियों और दबाव के सामने झुकेंगे। न ही अपनी भूभागीय अखंडता से कोई समझौता स्वीकार करेंगे. प्रधानमंत्री को अपने बयान से उनके साजिशकारी रवैये को बल नहीं देना चाहिए।’

Gyan Dairy

 

 

Share