blog

मोदी सरकार के आयुष मंत्रालय की सलाह, स्वस्थ बच्चा चाहिए तो मांस और सेक्स न करें महिलाएं

Spread the love

भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने गर्भवती महिलाओं को मांस और सेक्स से दूर रहने का सुझाव दिया है। मंत्रालय के मुताबिक स्वस्थ बच्चा पैदा करने के लिए ऐसा जरूरी है।मांस, सेक्स के अलावा बुरी संगत से भी बचने की बात कही गई है।

खबर के मुताबिक, मंत्रालय ने सलाह दी है कि गर्भवती महिलाओं को अपने कमरे में स्वस्थ बच्चे की खूबसूरत तस्वीरें लगानी चाहिए। जिससे कि महिला का मूड अच्छा रहेगा।

सरकार द्वारा सहायता प्राप्त संस्थान सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन योगा एंड न्यूपोपैथी की एक बुकलेट मदर एंड चाइल्ड केयर में गर्भवती महिलाओं को यह सुझाव दिए गए हैं। महिलाओं के इस बुकलेट को आयुष मंत्रालय के राज्यमंत्री श्रीपद नाइक ने जारी किया था।

अपोलो हेल्थकेयर ग्रुप के जीवन माला हॉस्पिटल एंड नोवा स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर गायनोकॉलोजिस्ट डॉ. मालविका सभरवाल ने कहा कि सरकार के इस सुझाव को समझ से परे बताया है। उन्होंने कहा है कि यह सुझाव बेतुका है। उन्होंने कहा कि प्रोटीन की कमी, कुपोषण और एनिमिया गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए चिंता का सबब है और मीट में प्रोटीन और आयरन दोनों ही होते हैं। ऐसे में उसे तंदरुस्त बच्चे की चाह के लिए मांस खाना चाहिए।

डॉ. सभरवाल के मुताबिक, गर्भ के दौरान सेक्स को लेकर भी सरकार का सुझाव सिर्फ प्रचलित धारणाओं पर आधारित है। उनका कहना है कि अगर गर्भावस्था सामान्य है, तो महिला के सेक्स करने से कोई दिक्कत नहीं है, कुछ खास मामलों में ही महिला को गर्भ के दौरान सेक्स से बचने की जरूरत होती है।

You might also like