मानसून सत्र: राज्यसभा में पीएम मोदी पर बरसे मल्लिकार्जुन खड़गे, कहा- जिम्मेदारी लेने के बजाए, ढूंढते हैं बकरा

नई दिल्ली। संसद के मानसून संत्र का दूसरा दिन भी काफी हंगामेदार रहा। मंगलवार को राज्यसभा में कोरोना संक्रमण पर चर्चा के दौरान नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह खुद जिम्मेदारी नहीं लेते हैं बल्कि बलि का बकरा ढूंढते हैं। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ‘पीएम नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि लोग थाली बजाएं, मोमबत्तियां जलाएं। देशवासियों ने वही किया। खड़गे ने कहा कि पीएम नरेन्द्र ने अपनी जिम्मेदारी को लेने की बजाय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को बलि का बकरा बना दिया।

राज्यसभा में बोलते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि मैं देश के कोरोना योद्धाओं को सलाम करता हूं। डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ ने अपनी जिंदगी को खतरे में डालकर लोगों के लिए काम किया। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मैं उन लोगों को सलाम करता हूं, जिन्होंने दिल्ली में ऑक्सीजन लंगर चलाया या फिर प्लाज्मा डोनेट किया और पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए।’ बीते साल लॉकडाउन के फैसले को लेकर भी खड़गे ने सरकार को कटघरे में खड़ा किया। कांग्रेस नेता ने कहा कि नोटबंदी की तरह ही सरकार ने रातोंरात लॉकडाउन लगा दिया था।

Gyan Dairy

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ने कहा कि सरकार ने लॉकडाउन से पहले कोई तैयारी नहीं की थी। कोई ट्रेनें नहीं थीं कि लोग अपने घरों को चले जाएं। गरीबों की आजीविका पर भी संकट आ गया था। सरकार को इसके लिए जिम्मेदारी लेनी चाहिए। खड़गे ने कोरोना काल में चुनाव कराने को लेकर भी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘सरकार ने लोगों से कहा था कि वे मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें। लेकिन खुद क्या कर रहे थे। चुनाव के दौरान अलग-अलग राज्यों में भारी भीड़ में रैलियां की गईं। आपने खुद ही अपने नियमों को तोड़ा था।

Share