सबसे शिक्षित भारतीय: 20 डिग्रियां लेने के बाद डॉक्टर, वकील, MBA, IAS, IPS, MLA, MP तक बन गया

नई दिल्ली। आपने कभी सोचा है कि क्या कोई एक शख्स चिकित्सक, वकील, MBA, पीएचडी, IPS, IAS, विधायक, सांसद, पेंटर और फोटोग्राफर एक साथ हो सकता है। आपका जवाब शायद नहीं होगा। लेकिन यह सच है। इसका उदाहरण रहे हैं एक भारतीय श्रीकांत जिचकर। श्रीकांत जिचकर का नाम भारत के सबसे योग्य व्यक्ति के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज है। श्रीकांत का नाम मोस्ट क्वालिफाइड इंडियन के रूप में लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज है।

ऐसा माना जाता है कि श्रीकांत जिचकर के पास जितनी डिग्रियां थीं, उतनी डिग्रियां किसी दूसरे शख्स के लिए हासिल करना संभव नहीं है। उन्होंने 42 यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करके 20 डिग्रियां हासिल की। एक रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी ज्यादातर डिग्रियां फर्स्ट क्लास की थीं या उन्होंने उनमें गोल्ड मेडल हासिल किया था।

श्रीकांत जिचकर का जन्म 14 सितंबर 1954 को महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था। यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल से राजनीति शुरू करने वाले श्रीकांत महज 25 साल की उम्र में 1980 में एमएलए बन गए थे। इसके बाद उन्हें मंत्री भी बनाया गया। 12 साल महाराष्ट्र विधानसभा में रहने के बाद 1992 में वे सांसद भी बने। लेकिन 1999 में हुए लोकसभा चुनाव में महज 3 हजार वोट से उनकी हार हो गई थी।

Gyan Dairy

श्रीकांत जिचकर को एकेडमिक्स के अलावा पेंटिंग, फोटोग्राफी और एक्टिंग का भी शौक था। बताते हैं कि उनके पास करीब 52 हजार किताबों वाली एक लाइब्रेरी भी थी। श्रीकांत भारत के अलग-अलग राज्यों में ट्रैवल भी कर चुके थे जिस दौरान वे लोगों से हेल्थ, इकोनॉमिक्स और कई बार धार्मिक मामलों पर भी चर्चा करते थे। 50 साल की उम्र में 2 जून 2004 को उनकी मौत हो गई।

Share