कांग्रेस के दिग्गज नेता व एमपी के पूर्व सीएम मोतीलाल वोरा का निधन

नई दिल्‍ली। कांग्रेस के दिग्गज नेता व एमपी के पूर्व सीएम मोतीलाल वोरा का आज 93 वर्ष की आयु में निधन हो गया है। उन्‍होंने कल ही अपना जन्‍मदिन मनाया था। मिली जानकारी के अनुसार, वोरा को अक्टूबर में कोरोना संक्रमण हुआ था, लेकिन वह इससे ठीक हो गए थे और 16 अक्‍टूबर को उनको अस्‍तपाल से छुट्टी दे दी गई थी। बाद में उन्हें 19 दिसंबर को सांस फूलने की शिकायत के बाद एस्कॉर्ट्स में भर्ती कराया गया।

कांग्रेस नेता इस साल अप्रैल तक छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सदस्य थे। कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा हालिया पार्टी फेरबदल से पहले वह एआईसीसी महासचिव (प्रशासन) भी थे। वह कांग्रेस के तीसरे वरिष्‍ठ नेता है, जिनको पिछले दो महीनों में निधन हुआ है। उनसे पहले कांग्रेस ने तरुण गोगोई और अहमद पटेल को खो दिया है।

मोतीलाल वोरा ने कई वर्षों तक पत्रकारिता के क्षेत्र में काम किया और बाद में 1968 में राजनीति में प्रवेश किया। उन्होंने 1970 में मध्य प्रदेश विधानसभा से चुनाव जीता और उन्हें मध्य प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया। वह 1977 और 1980 में विधान सभा के लिए फिर से चुने गए और 1980 में अर्जुन सिंह कैबिनेट में उच्च शिक्षा विभाग के अध्यक्ष रहे।

Gyan Dairy

मोतीलाल वोरा 1983 में कैबिनेट मंत्री बने और उन्हें मध्य प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष के रूप में भी नियुक्त किया गया। 13 फरवरी 1985 को वोरा को मध्य प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया था। 13 फरवरी 1988 को मोतीलाल वोरा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया और 14 फरवरी 1988 को स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार संभाला।

मोतीलाल वोरा अप्रैल 1988 में राज्य सभा के लिए चुने गए। 26 मई 1993 से 3 से 1996 तक उत्तर प्रदेश के राज्यपाल के पद पर रहे।

Share