प्रधानमंत्री से मिले एनसीपी मुखिया शरद पवार, जानें सियासी मायनें

नई दिल्ली। महाराष्ट्र की सियासत में चाणक्य कहे जाने वाले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी सुप्रीमो शरद पवार आखिर क्या गुल खिलाने वाले हैं, ये कोई नहीं जानता। शरद पवार ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। पीएम मोदी और शरद पवार के बीच मुलाकात के बाद सियासी सरगर्मी बढ़ गई है। हाल ही में अटकलें सामने आईं कि शरद पवार राष्ट्रपति पद के अगले उम्मीदवार हो सकते हैं। हालांकि, एऩसीपी मुखिया ने इन अटकलों को सिरे से खारिज किया था। साथ ही महाराष्ट्र में नए सियासी समीकरण सामने आने की अटकलें तेज हो गईं हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार की यह बैठक करीब 50 मिनट तक चली है। बता दें कि इससे एक दिन पहले शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और पीयूष गोयल भी एनसीपी चीफ शरद पवार मिले थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यालय ने फोटो के साथ ट्वीट करके लिखा कि ‘राज्यसभा सांसद शरद पवार नरेंद्र मोदी से मिले।’इस मुलाकात के राजनीतिक गलियारों में सियासी मायने निकाले जाने के और भी कई कारण हैं। मुंबई में कुछ दिनों में बीएमसी और महाराष्ट्र में विधानसभा स्पीकर के चुनाव भी होने हैं। ऐसे में इस मुलाकात से इन सियासी अटकलों को बल मिलता है। पीएम मोदी और पवार की इस मुलाकात से शिवसेना और कांग्रेस भी चौंकन्ना हो गई होगी।

Gyan Dairy

बता दें कि आगामी 19 जुलाई से प्रारंभ हो रहे मॉनसून सत्र के पहले शुक्रवार को पीयूष गोयल ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता आनंद शर्मा और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता शरद पवार सहित अन्य विपक्षी नेताओं से मुलाकात की थी। संसद सत्र से पहले गोयल की वरिष्ठ विपक्षी नेताओं से हुई मुलाकातों को सरकार की ओर से विपक्षी दलों से सहयोग मांगने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है।

Share