‘बिहार में का बा’ लिखकर बनीं सोशल मीडिया सनसनी , जानें कौन हैं नेहा सिंह राठौर

नई दिल्ली। बिहार में इन दिनों सोशल मीडिया सनसनी नेहा सिंह राठौर का गाना सबकी जुबान पर छाया हुआ है। दरअसल नेहा का गाना बिहार में का बा, यहां की मौजूदा हालत पर पूरी तरह सटीक बैठता है।

नेहा सिंह राठौर का गाना, बिहार में का बा, कोरोना से बीमार बा, बाढ़ से बदहाल बा। भरी जवानी में मंगरुवा चलत ठेगुरवा चाल बा। अरे का बा, बिहार में का बा। 15 साल चच्चा रहलन, 15 साल पप्पा। तबो ना मिट बेरोजगारी का ठप्पा। जब जब सइंया होले मोर अरब के रवाना, तब तब जियरा खोजे एहो इहा कारखाना। बोला का बा।

इस गाने को बिहरा के कैमूर जिले की रहने वाली नेहा सिंह राठौर ने लिखा और गाया है। 2018 में यूपी के कानपुर से स्नातक करने वाली नेहा वैसे तो 2018 से ही गाने गा रही हैं, लेकिन बिहार चुनाव आते ही उनके गाने सोशल मीडिया पर छा गए। नेहा ने एक गाना बेरोजगारी पर भी गाया था। इस गाने को प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन के समय लोगों ने खूब शेयर किया। कई बड़े विपक्षी नेताओं ने भी गाना शेयर कर दिया। इसके बाद देखते ही देखते लोगाों के मैसेज और फोन आने लगे।

नेहा कहती हैं कि उन्होंने कभी भी गाना वायरल करने की नियत से नहीं गाया या लिखा। वह सिर्फ पब्लि​क की आवाज बनना चाहती है। ईमानदारी के साथ अपना काम करती हूं। जो लाेग अपनी बात कहने से डरते हैं उनकी बात गाने के माध्यम से सरकार तक पहुंचाने की कोशिश करती हूं। नेहा कहती है जब भी कोई गाने की तारीफ करता है तो अच्छा लगता है।

नेहा सिंह राठौर का एक गीत:

Gyan Dairy

ईटा पाथत फूलचंद के बड़की बिटिया गायब बा,
सुनवाई केहरो ना भाई,
छोटके मालिक पे सक बा…
अरे का बा!

अरे केतना मरि गईले मजदूर
एकर नाहीं डाटा बा
सरकार लेत खर्राटा बा….

पिपरा लटके निबिया लटके
पंखा लटकत किसान बा
सरकार बहादुर कहेले देसवा मोर महान बा…

इहै बा..

Share