कोरोना संक्रमण: नौ माह के मासूम की मौत, शव एम्स में छोड़कर भाग गए मां-बाप

नई दिल्ली। कोरोना संकट के इस दौरान ने रिश्तों को तार तार कर दिया है। चारों ओर से मानवता और प्रेम जैसे मानवीय मूल्यों के कत्ल की खबरें आ रही हैं। ताजा मामला दिल्ली का है। उत्तर प्रदेश के रामपुर जनपद के मिलक क्षेत्र के नौ माह के मासूम ने इलाज के दौरान दिल्ली के एम्स में दम तोड़ दिया। बच्चे की मौत के बाद उसकी जांच रिपोर्ट आई, जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई। जब उसके माता-पिता को यह बात पता चली तो वो उसे एम्स में ही उसे लावारिस छोड़कर चले आए।

जब एम्स के अधिकारियों ने रामपुर प्रशासन से संपर्क किया तो माता-पिता ने मासूम का शव लेने इनकार करते हुए कहा कि एम्स के लोग ही उसका अंतिम संस्कार कर दें।   मिलक क्षेत्र के बच्चे के सिर में जन्म के समय ही गांठ थी। उसका एम्स में इलाज चल रहा था। डॉक्टरों ने ऑपरेशन की बात कही थी। लॉकडाउन की वजह से वे रुटीन चेकअप के लिए दिल्ली नहीं जा पा रहे थे। रामपुर के एक नर्सिंग होम में बच्चे को लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने बच्चे को दिल्ली ही ले जाने को कहा।

Gyan Dairy

लिहाजा बच्चे के माता-पिता उसे एम्स ले गए। ऑपरेशन से पहले जांच में 29 मई को मां-बाप की रिपोर्ट निगेटिव थी। बच्चे के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी मिलने पर उसके माता-पिता उसके शव को एम्स में ही छोड़कर चले गए। इस पर एम्स प्रशासन ने रामपुर के जिला प्रशासन से संपर्क किया। पता लगा कि मां-बाप गांव में थे। उसके पिता ने लिखकर दे दिया कि एम्स प्रशासन ही बच्चे का अंतिम संस्कार कर दे। इसके बाद एम्स की ओर से बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया गया। रामपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने इसकी पुष्टि की है।

Share