कांग्रेस नेता सिंघवी का मामला सुनने के लिए सुप्रीम कोर्ट का कोई भी जज तैयार नहीं

भारत के सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में शायद ही कभी पहले ऐसा मौका आया हो जब सुप्रीम कोर्ट का कोई भी जज किसी केस की सुनवाई करने के लिए तैयार न हुआ हो। दरअसल उच्च अदालत में एक ऐसा ही मामला आया है जो सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी से जुड़ा हुआ है।

रिपोर्ट के अनुसार न्यायधीश रोहिंटन फली नरीमन और संजय किशन कौल ने मामले को सुनने से इनकार कर दिया है। न्यायमूर्ति नरीमन ने कहा, हम में से कोई भी इस मामले की सुनवाई नहीं करेगा, इस मामले में सोमवार को सुनवाई होनी थी।

खबर के अनुसार अभिषेक मनु सिंघवी और उनके स्वामित्व से जुड़े ऋषभ एंटरप्राइजेज के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की सुनवाई के लिए भारत के मुख्य न्यायाधीश के लिए यह कठिन समय हो सकता है क्योंकि दो और न्यायाधीशों ने इस मामले से स्वयं अलग कर लिया है।

रिपोर्ट के अनुसार न्यायमूर्ति एन.वी. रमना ने मामले से भी त्याग कर दिया। जबकि चार न्यायाधीशों में से किसी ने इस मामले से खुद के अलग होने का कोई कारण नहीं बताया।

Gyan Dairy

पूरे मामले में दिलचस्प बात यह है कि यह सुनवाई पहले न्यायमूर्ति एन.वी. रमना और पीसी पंत की बेंच को करनी थी लेकिन फिर इसे न्यायमूर्ति नरिमन के के पास स्थानांतरित कर दिया गया था। पिछले हफ्ते, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ ने इस मामले से खुद को अलग कर लिया था।

यह मामला दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ एक अपील है। यह विवाद अमीत लालचंद शाह और ऋषभ इंटरप्राइजेज के बीच है। जिसमे यह फैसला होना है कि मामला आर्बिटेशन में जाना चाहिए या नहीं। इस केस में ऋषभ इंटरप्राइजेज और तीन कंपनियों के बीच चार अग्रीमेंट को लेकर है।

 

Share