दुनिया की कोई ताकत भारतीय जवानों को अपने कर्तव्‍य का पालन करने से नहीं रोक सकती है : बिपिन रावत

नई दिल्‍ली। देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने अपने नए कार्यालय का एक साल पूरा होने पर अरुणाचल प्रदेश और असम में चीन की सीमा के पास भारतीय सैन्य ठिकानों का दौरा किया। इस दौरान सीडीएस विपिन रावत ने कहा कि भारतीय जवान सीमाओं को सुरक्षित रखने के लिए अपने निश्‍चय पर अटल हैं। दुनिया की कोई ताकत भारतीय सशस्‍त्र बलों को अपने कर्तव्‍य का पालन करने से नहीं रोक सकती है। ऐसी चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में केवल भारतीय जवान ही अपनी ड्यूटी से परे जाकर सीमाओं की सुरक्षा का साहस रखते हैं।

बता दें कि, हाल ही में चीन ने लद्दाख के बाद अरुणाचल से सटे इलाकों में भी अपनी पहुंच बनानी शुरू कर दी है। ऐसे में बिपिन रावत का यह दौरा बेहद अहम माना जा रहा है। दरअसल, चीन ने अरुणाचल प्रदेश में भारतीय सीमा के पास तिब्बत के ल्हासा और नयींगशी शहरों को जोड़ने के लिए रेल पटरी बिछाने का काम 31 दिसंबर को पूरा कर लिया है।

शिचुआन-तिब्बत रेलवे, शिचुआन प्रांत की राजधानी चेंगदु से शुरू होता है और यह यान से गुजरते हुए और छामदो होते हुए तिब्बत में प्रवेश करता है। इस रेलमार्ग से चेंगदु और ल्हासा के बीच यात्रा में लगने वाला समय 48 घंटे से घटकर 13 घंटे रह गया है। तिब्बत की राजधानी ल्हासा और पूर्वी तिब्बत में स्थित नयींगशी को जोड़ने वाले इस रेल मार्ग का निर्माण कार्य 2014 में शुरू हुआ था।

Gyan Dairy

 

 

Share