भारत के जाने-माने ज्योतिषी बेजान दारूवाला का निधन, कोरोना से हुए थे संक्रमित

अहमदाबाद। भारत के जाने-माने एस्ट्रोलॉजर (ज्योतिषी) बेजान दारूवाला का शुक्रवार (29 मई) को कोविड-19 संक्रमण की वजह से अहमदाबाद के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 90 वर्षीय दारूवाला बीते 22 मई को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था.

बेजान दारूवाला के निधन पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने दुख और संवेदना जाहिर की है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “प्रसिद्ध ज्योतिषी श्री बेजन दारुवाला के निधन से दुखी हूं. मैं दिवंगत आत्मा के लिए प्रार्थना करता हूं. मेरी संवेदना। ओम् शांति..”.

वैदिक ज्योतिष, न्यूमेरोलॉजी और हस्‍तरेखा के थे ज्ञाता
प्रसिद्ध ज्योतिषी बेजान दारूवाला विभिन्‍न तकनीक के माध्‍यम से भविष्‍यवाणी किया करते थे. वह वैदिक ज्‍योतिष, नयूमेरोलॉजी और हस्‍त रेखा समेत ज्‍योतिष की विभिन्न विधाओं के ज्ञाता थे. वह अर्थव्‍यवस्‍था और बाजार के उतार चढ़ाव को लेकर भी भविष्‍यवाणी किया करते थे.

बेजान दारुवाला ने की थी मोदी की जीत की भविष्‍यवाणी

Gyan Dairy

मुंबई के ताज होटल में 25 अप्रैल 2003 को बेजान दारूवाला ने अपनी ज्‍योतिष की वेबसाइट का शुभारंभ किया था. उनकी वेबसाइट का नाम बेजानदारूवालाडॉटकॉम है. ऐसा कहा जाता है कि उन्‍होंने संजय गांधी की दुर्घटना की भी भविष्‍यवाणी की थी. जबकि 2014 में उन्‍होंने नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की भविष्‍यवाणी की थी.

बेजान दारूवाला भगवान श्री गणेश के प्रबल अनुयायी थे. वह भारतीय और पश्चिमी ज्‍योतिष को जोड़ने के लिए जाने जाते थे. वह ज्योतिषीय तकनीक आई-चिंग, टैरोट रीडिंग, कबालाह और हस्तरेखा के ज्ञाता माने जाते थे. उनकी कई भविष्‍यवाणियां सच साबित हुई थीं, जिसके कारण उन्‍हें भारत के साथ ही विश्‍व में भी एक नई पहचान मिली थी. वह वैदिक और पश्चिमी ज्‍योतिष के सिद्धांत को मिलाकर भविष्‍यवाणी करने के लिए जाने जाते थे.

Share