blog

राहुल गांधी ने प्रवासी मजदूरों के दर्द को बयां करते हुए डाला यूट्यूब पर वीडियो

राहुल गांधी ने प्रवासी मजदूरों के दर्द को बयां करते हुए डाला यूट्यूब पर वीडियो
Spread the love

नई दिल्ली: कोरोना वायरस यानी कोविड 19 के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए देश में 24 मार्च से जारी लॉकडाउन का आज 60वां दिन है। वहीं कुछ रियायतों के साथ देश में जारी लॉकडाउन- 4 का आज छठा दिन है। इस लॉकडाउन की वजह से सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना प्रवासी मजदूरों को करना पड़ा है। तमाम कोशिशों पर दावों के बावजूद प्रवासी मजदूरों की घर वापसी केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकारों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। लॉकडाउन के चलते आज भी बड़ी संख्या में मजदूर पैदल ही अपने-अपने राज्यों की ओर लौटने को मजबूर हैं।

इन सबके बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो साझा की है। इस वीडियो में प्रवासी मजदूरों के दर्द की कहानी उन्हीं की जुबानी सुनी जा सकती है। यह वीडियो 16 मई की है, जब सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास राहुल गांधी ने मजदूरों से मुलाकात कर उनसे बातचीत की थी। 16 मिनट के इस वीडियो की शुरुआत प्रवासी मजदूरों के पलायन के दर्द को दिखाने वाले दृश्यों से किया गया है। राहुल की आवाज में इस डॉक्युमेंट्री में मजदूरों की मुश्किलों को बयां किया गया है।

इस वीडियो में झांसी के रहने वाले महेश कुमार कहते हैं, 120 किलो मीटर चले हैं। रात में रुकते रुकते आगे बढ़े। मजबूरी है कि हमलोगों को पैदल जाना है। एक अन्य महिला कहती हैं, बड़े आदमी को दिक्कत नहीं है। हम तीन दिन से भूखे मर रहे हैं। बच्चा भी है हमारा साथ में, वो भी तीन दिन से भूखा-प्यासा है। एक अन्य महिला कहती हैं कि जो भी कमाया था पिछले दो महीनों में खत्म हो गया है। इसलिए अब पैदल ही घर निकल पड़े हैं। राहुल गांधी एक मजदूर से बात करते हैं। वो पूछते हैं कि वो कहां से आ रहे हैं और क्या करते थे।

बातचीत के दौरान एक शख्स बताता है कि वह हरियाणा से आ रहा है और कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करता था। शख्स बताता है कि एक दिन पहले ही उसने चलना शुरू किया है। उनके साथ उनका पूरा परिवार है। शख्स ने बताया कि उसे एकाएक ही लॉकडाउन की जानकारी मिली। जहां रहते थे वहां किराए के नाम पर 2500 रुपये देने पड़ते थे। इसलिए अह वो झांसी रवाना हो रहे हैं।

राहुल गांधी ने पूछा है कि पैसे हैं पास में, खाना खा रहे हो? इस सवाल के जवाब में परिवार ने बताया कि लोग रास्ते में उन्हें खाने के लिए दे देते हैं। कई बार खाना मिलता भी है कई बार नहीं मिलता तो पैदल चलते हुए आगे बढ़ जाते हैं।

इस वीडियो में मजदूरों पर उनके घर लौटने के दौरान हुई ज्यादितियों का भी जिक्र है। राहुल ने इस वीडियो में मजदूरों के भविष्य के बारे में सवाल उठाए हैं।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *