ओडिशा: महानदी में दिखा गोपीनाथ मंदिर, 500 साल पहले ली थी जल समाधि

नई दिल्ली। ओडिशा के नयागड़ जिले के भापुर ब्लाक में इन दिनों खासी चलह पहल है। दरअसल पद्मावती गांव के पास बह रही महानदी में 500 साल पुराने गोपीनाथ (राधाकृष्ण और विष्णु) मंदिर के अवशेष मिले हैं। बताया जा रहा है कि कई साल पहले भी महानदी का जलस्तर कम होने पर इस मंदिर का भाग दिखाई दिया था। यह खबर सामने आते ही अब इस जगह पर लोगों की भीड़ भी जम रही है। पद्मावती गांव के लोग तथा इतिहासकारों के मुताबिक पहले इस जगह पर पद्मावती गांव था। यह पद्मावती गांव का प्राचीन मंदिर है।

बताया जा रहा है कि धारा की दिशा बदलने के कारण 1933 में पद्मावती गांव महानदी के गर्भ में समा गया था। पद्मावती गांव के लोग वहां से रगड़ीपड़ा, टिकिरीपड़ा, बीजीपुर, हेमन्तपाटणा, पद्मावती (नया) आदि गांव में बस गए। पद्मावती गांव के लोग हथकरघा, कुटीर शिल्प सामग्री निर्माण के साथ कैवर्त के तौर पर कार्य कर रहे थे। अपनी सामग्री पश्चिमांचल में भेज रहे थे। उस समय परिवहन के लिए जलपथ का व्यापक रूप से प्रयोग होने से पद्मावती गांव के लोगों ने नदी किनारे अपना डेरा डाला था।

मंदिर के निर्माण की शैली आज से 400 से 500 साल पुरानी है। नदी के गर्भ में लीन होने वाली इस मंदिर की प्रतिमा वर्तमान पद्मावती गांव के कैवर्तसाही के पास निर्माण किए गए मंदिर में स्थापित किए जाने की बात कही जाती है। उसी तरह से नदी के गर्भ में लीन होने वाले पद्मावती गांव के जगन्नाथ मंदिर की प्रतिमा टिकिरीपड़ा में दधिवामनजीउ मंदिर में, पद्मावती गांव के पद्मनाभ सामंतराय के द्वारा प्रतिष्ठित रास विहारी देव मंदिर की प्रतिमा वर्तमान समय में पद्मावती में है। मूल पद्मावती गांव नदी के गर्भ में लीन होने के बाद इस तरह के अनेकों मंदिर की प्रतिमा को उठाकर नए पद्मवती गांव में स्थापित किया गया है।

Gyan Dairy

इस गांव में अनेक मंदिर होने की बात स्थानीय ग्राम के लोग कहते हैं। नदी का पानी कम होने के बाद भी सभी मंदिर स्पष्ट रूप से नहीं दिखते हैं। गोपीनाथ मंदिर की ऊंचाई अधिक होने से पानी कम होने के बाद यह दिखाई देने की बात पिछले 40 साल से महानदी में नाविक के तौर पर काम करने वाले आनंद बेहेरा ने कही है। पद्मावती ग्रामवासी लोगों ने कहा है कि सन् 1933 में हमारा गांव पूरी तरह से नदी में विलीन हो गया था। उस साल बाढ़ आने के साथ नदी गतिपथ बदलकर हम सबके लिए काल बन गई थी।

Share