‘स्टार्टअप इंडिया’ के 10 हजार करोड़ के बजट में से अभी तक 623 करोड़ की खर्च हो पाए

मोदी सरकार अपने तीन साल पूरे होने पर अपनी तमाम स्कीम्स की सफलता को गिना रही है। ‘स्टार्टअप इंडिया’ भी इन स्कीम्स में शामिल है। केंद्र सरकार ने स्टार्टअप इंडिया के लिए 10 हजार करोड़ रूपये का फंड रखा था। सरकार का कहना है कि इस फंड को 2025 तक डिस्ट्रीब्यूट करना है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक़ इस फंड के बनने के बाद अब तक सरकार ने 623 करोड़ का फंड दिया है। जिन स्टार्टअप को ये फंडिंग दी गई हैं उनकी संख्या 62 है। इकनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट माने तो गुड़गांव में अभी तक एक भी स्टार्टअप शुरू नहीं किया जा सका है।

डीआईपीपी और सि‍डबी की ओर से जारी रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, फाइनेंशि‍यल ईयर 2016-17 के दौरान केवल 623.50 करोड़ रुपए का ही फंड मि‍ल पाया है। सि‍डबी की ओर से सेबी रजि‍स्‍टर्ड ऑल्‍टरनेटि‍व इन्‍वेस्‍टमेंट फंड्स (AIFs) को 600 करोड़ रुपए जारी कि‍ए गए हैं।

Gyan Dairy

सॉफ्टवेयर दिग्गज आईबीएम की ताजा रिपोर्ट की माने तो कि भारत में फंड की कमी के चलते 90 फीसदी से ज्यादा स्टार्टअप पहले पांच सालों में ही बंद हो जाते हैं।

Share