नोटबंदी के बाद इनकम टैक्स अधिकारियों का दर्द इस चिट्ठी के जरिये सामने आया

नोटबंदी के बाद चोरी का पता लगाना इनकम टैक्स विभाग के लिए सबसे बड़ा काम हो चला है। नोटबंदी के बाद हो रही छानबीन और इनकम टैक्स अधिकारियों को ऊपर से लगातार मिल रहे आदेशों से उनपर कितना दबाव आ पड़ा है इसका अंदाज़ा तो पहले से लगाया जा रहा था। अब खुद इनकम टैक्स अधिकारियों ने ये बात कही है। खबर के अनुसार इनकम टैक्स अधिकारियों ने एक ऐसा ही पत्र केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) चेयरपर्सन को लिखा है।

इनकम टैक्स अधिकारियों का कहना है कि इससे आम लोगों की नजरों में उनकी छवि ख़राब होती जा रही है। पत्र में कहा गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के प्रावधानों का भी ये अफसर उल्लंघन कर रहे हैं। उनके कहने पर आयकर अधिकारी मजबूरन करदाताओं को फोन और एसएमएस कर रहे हैं और उन्हें समन भी भेज रहे हैं।

आयकर राजपत्रित अधिकारी महासंघ (आईटीजीओए) के महासचिव भास्कर भट्‌टाचार्य द्वारा सीबीडीटी के चेयरपर्सन सुशील चंद्रा को लिखे तीन पेज के पत्र में कहा गया है कि बड़े अफसरों के नए-नए आदेशों से लगातार भ्रम की स्थित बढ़ती जा रही है। बड़े अफसर नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं और आयकर अधिकारियों से करदाताओं पर दबाव डालने को कह रहे हैं।

Gyan Dairy

गौरतलब है कि नोटबंदी के बाद इनकम टैक्स  विभाग के पास नोटबंदी के बाद कई काम आ गए हैं। पूरे देश में कई संदिग्ध लेनदेन का पता करना है। इससे पहले इनकम टैक्स अधिकारियों ने 18 लाख लोगों को नोटिस भी भेजा था।

Share