पेगासस जासूसी केस: सुनवाई के दौरान सीजेआई ने कहा- आरोप सच में गंभीर हैं

नई दिल्ली। पेगासस जासूसी केस पर सुप्रीम कोर्ट ने आज यानी गुरुवार को पहली बार सुनवाई की। पेगासस केस में याचिकाकर्ताओं की दलीलें सुनने के बाद शीर्ष अदालत ने कहा कि आरोप गंभीर हैं। याचिकाकर्ता पक्ष से वकील कपिल सिब्बल ने सीजेआई से केंद्र सरकार को नोटिस जारी करने का अनुरोध किया। सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई मंगलवार को करने की बात कही है। सुप्रीम कोर्ट में पेगासस मामले को लेकर कई याचिकाएं दायर की गई हैं। इन याचिकाओं में पेगासस जासूसी कांड की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एसआईटी जांच की मांग की गई है।

सुप्रीम कोर्ट ने सभी याचिकाकर्ताओं से कहा कि वे अपनी याचिका की प्रति केंद्र को दें। अब इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को करेगा। सुप्रीम कोर्ट के समक्ष याचिकाकर्ता पत्रकारों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अरविंद दत्तर ने कहा कि संपूर्ण और व्यक्तिगत गोपनीयता के रूप में नागरिकों की गोपनियाता पर विचार किया जाना चाहिए। पेगासस जासूसी कांड पर याचिकाकर्ता शिक्षाविद् जगदीप की ओर से पेश वरिष्ठ वकील श्याम दीवान ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि वर्तमान मामले की भयावहता बहुत बड़ी है और कृपया मामले की स्वतंत्र जांच पर विचार करें। वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने भारत के मुख्य न्यायाधीश से कहा कि मैं और हम सभी चाहते हैं कि आप केंद्र सरकार को नोटिस जारी करें।

Gyan Dairy

 

Share