‘मन की बात’ में PM मोदी बोले- कोरोना संकट में हॉलीवुड से हरिद्वार तक सबको याद आया योग और आयुर्वेद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा कि कोरोना संकट के दौर में लोग योग का सहारा ले रहे हैं। हॉलीीवुड से हरिद्वार तक सभी योग को गंभीरता से ले रहे हैं। उन्होंने कोरोना के खिलाफ जंग में योग और आयुर्वेद को मददगार बताते हुए कहा कि योग कम्युनिटी, इम्यूनिटी और यूनिटी सबके लिए अच्छा है।

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट के इस दौर में मेरी, विश्व के अनेक नेताओं से बातचीत हुई, लेकिन एक सीक्रेट में जरूर बताना चाहूंगा। विश्व के अनेक नेताओं से जब बातचीत होती है तो उनकी बहुत ज्यादा दिलचस्पी योग और आयुर्वेद के संबंध में होती है। कुछ नेताओं ने मुझसे पूचा कि कोरोना के इस काल में ये योग और आयुर्वेद कैसे मदद कर कते हैं।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हर जगह लोगों ने योग और उसके साथ आयुर्वेद के बारे में और ज्यादा जानना और अपनाना चाहा है। कितने ही लोग जिन्होंने कभी योग नहीं किया है वे भी ऑनलाइन योग सीख रहे हैं। सही में योग कम्युनिटी, इम्युनिटी और यूनिटी सबके लिए अच्छा है।

Gyan Dairy

पीएम ने कहा कि कोरोना संकट के इस समय में योग आज इसलिए भी ज्यादा अहम है क्योंकि ये वायरल हमारे रेस्पीरेटरी सिस्टम को सबसे अधिक प्रभावित करता है। योग में रेस्पीरेटरी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कई तरह के प्रणायाम हैं। जिनका असर हम लंबे समय से देखते आ रहे हैं। यह टाइम टेस्टेड टेक्नीक्स हैं। कपालभाती और अनुलोम विलो, प्रणायाम से अधिकतर लोग परिचित हैं, लेकिन भस्त्रिका, शीतली, भ्रामरी जैसे कई प्रणायाम के प्रकार हैं जिसके अनेक लाभ भी हैं।

Share