पार्टी नेताओं से पीएम नरेंद्र बोले, सत्ता में आने के बाद कांग्रेसी तौर-तरीक़ों से बचें

भुवनेश्वर में बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपने समापन भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को सत्ता में आने पर व्यवहार में संयम और सुख-सुविधाओं से बचने की नसीहत दी है.

पीएम मोदी ने कहा कि हम लोग अपना घर-परिवार और सुख-सुविधा छोड़ कर आए हैं. लेकिन सत्ता में आने के बाद अगर उसी सुख-सुविधा, रहन-सहन और मानसिकता के साथ अगर रहने लगें जो हमसे पहले वालों की थी तो यहाँ आने का क्या मतलब?

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब हम विपक्ष में थे तब हमारा रहन-सहन जैसा था वैसा ही सत्ता में आने के बाद रहना चाहिए वर्ना हममें और उनमें (कॉंग्रेस) क्या फर्क रह जाएगा.

पीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने सब कुछ छोड़ कर अपना पूरा जीवन लगा दिया. पार्टी के किसी भी नेता के लिए कर्तव्य परिवार से पहले है. पीएम मोदी ने शुचिता और भ्रष्टाचार मुक्त आचरण पर भी जोर दिया. उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत फ़ायदों के लिए काम नहीं करना चाहिए.

Gyan Dairy

पीएम मोदी के मुताबिक पीएम की नसीहत पार्टी नेताओं ख़ासतौर से मंत्रियों के लिए थी कि सत्ता में आने के बाद उन्हें अपने तौर-तरीके और रहन-सहन नहीं बदलना चाहिए.

पीएम मोदी की ये नसीहत ऐसे समय आई है जब कई कॉंग्रेसी नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा है. हालांकि पार्टी नेताओं का कहना है कि दोनों बातों में संबंध नहीं है क्योंकि बीजेपी यह कहती आई है कि जो कोई भी बीजेपी की विचारधारा में विश्वास व्यक्त करता हो और साफ छवि का हो, बीजेपी में उसका स्वागत है.

Share