पीएनबी घोटाला: एंटीगुआ से चोरी छिपे फरार हुआ भगौड़ा मेहुल चोकसी, CBI ने इंटरपोल से साधा संपर्क

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को हजारों करोड़ का चूना लगाकर देश से फरार हीरा कारोबारी एंटीगुआ से निकल गया है। एंटीगुआ की पुलिस रविवार शाम से लापता मेहुल चोकसी को खोज रही है। मेहुल चोकसी को आखिरी बार रविवार की शाम करीब 5:15 बजे (स्थानीय समयानुसार) घर से कार में जाते हुए देखा गया था। मेहुल के वकीलों ने बताया कि वह रात का खाना खाने के लिए एंटीगुआ के दक्षिणी हिस्से में गया था। इसके बाद नहीं लौटा। अब माना जा रहा है कि चोकसी एंटीगुआ से भाग कर क्यूबा में छिप गया है।

बता दें कि मेहुल चोकसी की तलाश केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी कर रहा है। चोकसी भारत में करीब 14,000 करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ऋण धोखाधड़ी और मनी-लॉन्ड्रिंग केस में वांछित है। वह 2018 में कैरिबियाई द्वीप राष्ट्र एंटीगुआ और बारबुडा भाग गया था। इसके बाद से वह लगातार वहीं रह रहा था।

जॉनसन पॉइंट पुलिस स्टेशन में एक आधिकारिक शिकायत दर्ज किए जाने के बाद, पुलिस ने भारतीय व्यवसायी की तलाश शुरू की। हालांकि, इसका अब तक कोई नतीजा नहीं निकला है। पुलिस के बयान में कहा गया है, “भारतीय मूल का मेहुल चोकसी भूरे रंग का और पांच फीट छह इंच (5′ 6″) ऊंचाई का व्यक्ति है। जो भारी रूप से गंजा है। पुलिस चोकसी के ठिकाने को जानने के लिए जनता की सहायता मांग रही है।”

Gyan Dairy

अब सीबीआई और ईडी दोनों ने मेहुल चोकसी के संबंध में रिपोर्ट और एंटीगुआ पुलिस के बयान देखे हैं। वे उचित चैनलों, अधिकारियों के माध्यम से घटना के बारे में अधिक जानकारी का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बाद सीबीआई ने चोकसी का पता लगाने के लिए इंटरपोल से संपर्क किया है। इस बात की संभावना जताई जा रही है कि वह एंटीगुआ से भाग कर क्यूबा चला गया हो। आपको बता दें कि भारत से भागने के बाद मेहुल चोकसी ने कैरिबियाई द्वीप राष्ट्र एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता ले ली थी।

एंटीगुआ और बारबुडा में रहने वाले 61 वर्षीय भारतीय कारोबारी और गीतांजलि समूह के मालिक मेहुल चोकसी को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वांटेड घोषित कर रखा है। मेहुल चोकसी ने मेगा-घोटाले के सामने आने से एक महीना पहले 4 जनवरी, 2018 को एंटीगुआ भागने से पहले 13,578 करोड़ पीएनबी धोखाधड़ी में करीब 7,080 करोड़ की हेराफेरी की।

Share