PM मोदी बोले- कोरोना जैसे संकट की करनी होगी पूर्व तैयारी, भविष्य के गर्भ में हो सकती हैं गंभीर चुनौतियां

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब समय बदल गया है। अब किसी नई तकनीक के लिए सालों तक इंतजार नहीं करना पड़ता। पीएम ने कहा कि पहले दुनिया में जब कोई नई खोज होती थी उसे भारत लाने में सालों लग जाते थे। हालांकि आज ऐसा नहीं है। आज हमारे वैज्ञानिक दुनिया के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के एक कार्यक्रम को संबोधित को रहे थे। वैज्ञानिकों की तारीफ करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने एक साल में ही स्वदेशी कोरोना वैक्सीन तैयार कर दी। कोरोना से निपटने के लिए नई दवाएं खोजीं। इसके साथ ही ऑक्सीजन के उत्पादन में इजाफे के लिए प्रयास किए।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी आज हमारे सामने है। ऐसी ही कई चुनौतियां भविष्य के गर्भ में हो सकती हैं। उदाहरण के तौर पर क्लाइमेट चेंज को लेकर एक्सपर्ट लगातार आशंकाएं जाहिर कर रहे हैं। ऐसे में हमें ग्रीन हाइड्रोजन टेक्नोलॉजी से लेकर कार्बन उत्सर्जन में कमी तक के मामले में लीड लेनी होगी। पीएम मोदी ने कहा, ‘मैं सभी वैज्ञानिकों का पूरे देश की ओर से धन्यवाद देता हूं। पीएम ने कहा कि वैक्सीन से लेकर वर्चुअल तकनीक में भारत ने तेजी से विकास किया है।’

Gyan Dairy

पीएम मोदी ने कहा कि हम सॉफ्टवेयर से लेकर सैटेलाइट तक से दूसरे देशों के विकास को भी गति दे रहे हैं। हम दुनिया के विकास में इंजन के रोल में हैं। इसलिए हमारे लक्ष्य भी वर्तमान से दो कदम आगे ही होने चाहिए। हमें आने वाले दशकों के लिए पहले से तैयार रहना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि मेरा सुझाव है कि आपकी ओर से किए गए शोध लोगों के लिए सुलभ होने चाहिए।

Share