पंजाब: अमृतसर में प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिद्धू के घर पहुंचे कांग्रेस के 62 विधायक, सीएम खेमे में खामोशी

चंडीगढ़। नवजोत सिंह सिद्धू के पंजाब कांग्रेस का प्रधान बनने के बाद घमासान मचा हुआ है। प्रदेश कांग्रेस का प्रधान बनने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने आज यानी बुधवार को अमृतसर स्थित अपने आवास पर पहली बैठक बुलाई है। सिद्धू के घर पर कांग्रेस के 62 विधायक पहुंच चुके हैं। इससे पहले सिद्धू प्रदेश के कांग्रेसी मंत्रियों, विधायकों और सीनियर नेताओं के साथ लगातार मुलाकात करते रहे।

नवजोत सिद्धू की भेंट मुलाकातों का असर ही है कि सोमवार को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के आवास पर पहुंचे विधायक राजकुमार वेरका बुधवार को सिद्धू के आवास पर मौजूद दिखे। कैप्टन सरकार के अधिकांश मंत्री और विधायक अब सिद्धू की प्रदेश प्रधान के पद पर नियुक्ति के फैसले को सही ठहरा रहे हैं। बीते चार दिनों में क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू की सरगर्मी के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह का खेमा पूरी तरह से शांत है।

Gyan Dairy

इससे एक बात तो साफ है कि पंजाब में कांग्रेस दो गुटों में बंट चुकी है। प्रदेश प्रधान बनने के बाद नवजोत सिद्धू लगातार पार्टी के नेताओं को अपने पक्ष में एकजुट करने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं, कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू द्वारा माफी मांगने वाली शर्त न पूरी होने से अभी शांत हैं। कैप्टन के प्रति सिद्ध के रवैये में भी कोई बदलाव नहीं आया है। सिद्धू अभी तक न तो कैप्टन से मिले और न ही किसी मौके पर उन्होंने कैप्टन का जिक्र किया। वहीं, कैप्टन की खामोशी को लेकर सियासी हलकों में कई तरह की चर्चाएं  शुरू हो गई हैं, क्योंकि पंजाब में कांग्रेस सरकार की कमान और विधायक दल की कमान उनके ही हाथ में है।

Share