राहुल गांधी बोले- संकट में शुतुरमुर्ग बन गई मोदी सरकार, हर गलत रेस में आगे है देश

कोरोना वायरस संकट और गिर रही जीडीपी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने में लगे हुए हैं। सोमवार सुबह एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि “हर गलत दौड़ में देश आगे है- कोरोना संक्रमण के आंकड़े हो या GDP में गिरावट।” राहुल ने मोदी सरकार की तुलना ‘शुतुरमुर्ग’ से करते हुए कहा कि वह देश को संकट में डालकर समाधान नहीं ढूंढती। उन्‍होंने लिखा, “मोदी सरकार देश को संकट में पहुंचाकर समाधान ढूंढने की बजाय शुतुरमुर्ग बन जाती है।” राहुल ने एक दिन पहले जीडीपी में गिरावट के पीछे जीएसटी को जिम्‍मेदार ठहराया था। वह इसे ‘गब्‍बर सिंह टैक्‍स’ कहते हैं।

जीएसटी को लेकर आगबबूला हैं राहुल

राहुल गांधी इन दिनों एक वीडियो सीरीज चला रहे हैं। इसमें वह समसामयिक मुद्दों पर अपनी राय सामने रखते हैं। रविवार को पोस्‍ट किए गए वीउियो में उन्‍होंने जीएसएटी को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की। उन्होंने आरोप लगाया कि ‘यह अर्थव्यवस्था के असंगठित क्षेत्र के लिए दूसरा बड़ा आक्रमण है। इसके दोषपूर्ण कार्यान्वयन ने अर्थव्यवस्था का सर्वनाश कर दिया।’ वीडियो में राहुल ने कहा कि ‘जीएसटी यूपीए सरकार का आइडिया था। एक टैक्स, सरल टैक्स और साधारण, लेकिन एनडीए ने इसे जटिल बनाकर रख दिया।’

‘देश में चार अलग-अलग टैक्‍स रेट क्‍यों?’

राहुल ने कहा, “एनडीए सरकार द्वारा लागू जीएसटी में चार अलग-अलग टैक्स हैं। 28 प्रतिशत तक टैक्स है और बड़ा जटिल है। समझने को बहुत मुश्किल टैक्स है।” उन्होंने कहा कि जो छोटे और मझोले व्यापार वाले हैं, वो इस टैक्स को भर ही नहीं सकते जबकि बड़ी कंपनियां बड़ी आसानी से भर सकती हैं, वे पांच-10 अकाउंटेंट लगा सकती हैं। गांधी ने सवालिया लहजे में कहा, “देश में ये चार अलग-अलग टैक्स रेट क्यों हैं। ये ऐसा इसिलए है क्योंकि सरकार चाहती है कि जिसकी जीएसटी तक पहुंच हो वो इसे आसानी से बदल पाए और जिसकी पहुंच न हो वो जीएसटी के बारे में कुछ न कर पाए। हिंदुस्तान के 15-20 उद्योगपतियों की पहुंच है तो वे जो भी टैक्स का कानून वे बदलना चाहते हैं तो वे इस जीएसटी रेजीम में आसानी से बदल सकते हैं।”

Gyan Dairy

बीजेपी सरकार ने असंगठित अर्थव्यवस्था पर किया हमला: राहुल

पिछले महीने की आखिरी तारीख को पोस्‍ट वीडियो में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर असंगठित अर्थव्यवस्था पर हमला करने का आरोप मढ़ा था। तब राहुल ने कहा था, “भाजपा सरकार ने पिछले छह वर्षों में असंगठित अर्थव्यवस्था पर कई बार हमला किया है और आपको गुलाम बनाने का प्रयास किया जा रहा है।” उन्‍होंने कहा था कि “अनौपचारिक क्षेत्र (इनफॉर्मल सेक्टर्स) में 40 करोड़ से अधिक मजदूर अत्यधिक गरीबी में फंसे हुए हैं। पिछले चार महीनों में करीब दो करोड़ लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं।”  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share