राहुल गांधी : लोकसभा में डिस्‍कशन के बदले RSS से डिस्‍कशन कर देश चलाना चाहते हैं मोदी

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कहा कि वो अपने मन की बात देश पर थोपना चाहते हैं. देश की जनता की बात सुनना नहीं चाहते. कांग्रेस चाहती है कि ऐसे लोगों की आवाज भी देश की राजनीति में सुनी जाए और इसके लिए कांग्रेस एक मंच मुहैया कराने जा रही है.

एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ अपनी मन की बात करते हैं. मोदी चाहते हैं कि लोकसभा और विधानसभा में किसी तरीके का डिस्‍कशन न हो. जो मोदी और आरएसएस में डिस्‍कशन हो उसी से देश चले. राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस और दूसरी पार्टी में यही अंतर है. कांग्रेस सबकी आवाज राजनीति में लाना चाहती है लेकिन दूसरी पार्टी ऐसा नहीं चाहती. राहुल गांधी ने कहा कि हम चाहते हैं कि हिंदुस्‍तान के करोड़ों लोग पॉलिसी मेकिंग में शामिल हों. लेकिन देश की वर्तमान सरकार ऐसा नहीं चाहती है.

अनऑर्गनाइज्‍ड सेक्‍टर के लोगों की आवाज को देश के सामने लाने के लिए कांगेस एक नये विंग पर काम कर रही है.हुल गांधी ने कहा कि वह एक प्रोफेशनल कांग्रेस बनाने की तैयारी कर रहे हैं जिसके जरिए अनऑर्गनाइज्‍ड सेक्‍टर के वर्कर की आवाज को राजनीति में लाने की कोशि‍श होगी. प्रोफेशनल कांग्रेस की कमान पार्टी के चार वरिष्‍ठ नेता के हाथों में होगी जिनमें शशि थरूर, मिलिंद देवड़ा भी शामिल होंगे.

Gyan Dairy

माना जा रहा है कि कांग्रेस अपने इस अभियान के जरिए देश के अनऑर्गनाइज्‍ड सेक्‍टर में काम करने वाले लोगों को अपने साथ जोड़ना चाहती है और उसके लिए एक प्‍लेटफॉर्म मुहैया कराना चाहती है. राहुल गांधी के बाद शाशि थरूर ने भी इस मामले में अपनी राय रखी.

केरल के मसले पर सवाल किए जाने पर राहुल ने कहा कि मैं गुजरात जाने वाला हूं फिर आप जो सवाल करना चाहते हैं वह वहां पूछ लिजिएगा. अभी जिस मुद्दे पर हम बात करने आए हैं उसी पर सवाल करें तो बेहतर हो.

Share